रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? Remdesivir injection kya hai? Best information 2021

1486

रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? बीते एक महीने से भारत मे कोरोना की रफ्तार में बहुत ज्यादा इज़ाफा देखने को मिला है। इस बीच लोगो के बीच मे डर और संशय का माहौल है। हर कोई दवाइयों और ऑक्सीजन को खरीदने की होड़ लग रहा है। दवाइयां इस वक्त इंसानो के लिए किसी अमृत से कहीं बढ़ कर है। ऐसी ही एक दवा जिसका नाम रेमडेसिवीर है, आज लोगो में उसे खरीदने और उसका इस्तेमाल करने को लेकर कुछ भ्रांतिया फैल रही हैं। ऐसे में रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है इसकी सही जानकारी आपको होना जरूरी है।

तो बने रहिए इस आर्टिकल में यहां पर हम जानेंगे कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग क्या है, इसके एक इंजेक्शन की कीमत? और रेमडेसिवीर इंजेक्शन साईड इफेक्ट आदि।

रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है
रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है

अनुक्रम

रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है?

☛ रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है ? Remdesivir injection kya hai?

आईए जानते हैं कि रेमडेसिवीर दवा क्या है? रेमडेसिवर एक एन्टी वायरल दवा है जो कि कुछ viruses के खिलाफ लड़ने में कारगर है। साथ ही साथ ये एक intravenus medicine है, इसका अर्थ ये है कि ये दवा directly इंजेक्शन द्वारा शरीर मे रक्त ध्वनियों में इंजेक्ट की जाती है।

इस दवा की खोज 2009 में अमेरिकन कंपनी गिलियड साइंसेस के द्वारा की गई थी। गिलियड साइंसेस ने इस दवा को हेपेटाइटस – सी की रोकथाम के लिए बनाया था। पर अफसोस ये दवा अपने कार्य को करने में पूरी तरह नाकामयाब हुई।

हेपेटाइटस – सी के बाद इस दवा का प्रयोग इबोला नाम की खतरनाक बीमारी के लिए किया गया पर फिर से इस दवा को निराशा ही हाथ आई और ये दवा फिर से नाकाम हो गयी।

मगर अब आया साल 2019 जहां अचानक आए Corona (COVID 19) ने पृरी दुनिया को दहला दिया, इस Virus पर गहन रिसर्च और अनुसंधान के बाद वैज्ञानीको ने ये पाया कि ये Virus SARS यानी Severe acute respiratory syndrome Family का ही एक Virus है।

उम्मीद है अब आप समझ गए होंगे कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है?

Read Also: ISRO में वैज्ञानिक कैसे बने?

☛ रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग :

अब तक हम जान चुके हैं कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है आईए अब हम जानते हैं कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन के उपयोग क्या है?

रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग
रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग
  • रेमडेसिवीर इंजेक्शन का इस्तेमाल मूलतः HIV-AIDS जैसे Infectious virus के इलाज के लिए किया गया था।
  • मगर HIV-AIDS जैसी बीमारियों में रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर Virus से लड़ने में नाकाम इस दवा का इस्तेमाल Africa महाद्वीप में फैले IBOLA Virus के इलाज में किया गया परन्तु ये दवा पुनः वहां भी Fail हो गई।
  • अंततः इस दवा का इस्तेमाल हाल ही में आये Covid 19 ; Corona virus से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए किया जाने लगा जहां इस दवा ने अच्छा काम किया, Virus के जर्म्स सेल्स को मार संक्रमण को फैलने से रोकने में ये इंजेक्शन कारगर साबित हुआ।
  • आजकल इस इंजेक्शन का इस्तेमाल Covid 19 (SARS-CoV-2) से संक्रमित हुए नौजवानों के इलाज में किया जा रहा है।

रेमडेसिवीर ऑफिशियल वेबसाइट

☛ रेमडेसिवीर इंजेक्शन कीमत (Remdesivir injection price) –

आपने यह तो जान लिया कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? अब एक और उठता है कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कीमत क्या है? सवाल का जवाब बिल्कुल स्पष्ट और निश्चित नहीं हैं।

परन्तु फिर भी अगर इसपर चर्चा करें तो आम तौर पर ये इंजेक्शन काफी ऊँचे दामों पर बेचा जाता था और जब से इस इंजेक्शन की उपयोगिता Covid 19 संक्रमण में सिद्ध हुई है तबसे इसे अधिक से अधिक दामों पर बेचा जा रहा हैं।

कुछ निजी निर्माता कम्पनियों ने इस दाम को डेढ़ हजार रुपये से लेकर पांच हजार रुपये तक के आकंडें के भीतर रखा हैं, मसलन Cipla की ओर से आने वाला Remdesivir injection (Covid 19 varient) की कीमत बीते साल जून महीने तक 5000 रुपये के आसपास थी, लिहाजा उस वक्त अचानक बाजारों में Remdesivir injections की बढ़ती मांगों के चलते निजी दवा निर्माता कम्पनियों के दामों में भारी उछाल लाई थी।

परन्तु आज की तारीख में इस दवा के दाम केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित है, सरकार द्वारा अप्रैल महीने में जारी किए एक आदेश के मुताबिक इस injection के लिए ₹899/- का दाम निर्धारित किया गया है।

Read Also: IPL LIVE फ्री में कैसे देखें?

☛ (COVID 19) Corona Virus के इलाज में Remdesivir कितना कारगर?

शुरुआत में यानी 2019 के अंतिम महीने (दिसम्बर) और 2020 के शुरुआती महीनों में Covid के इलाज हो लेकर बेहद ही संशय था, डोकर्ट्स को इस बारे में कोई खास जानकारी नहीं थी और ना ही चिकित्सकों को ये ज्ञात था की इस बीमारी के इलाज के लिए किस दवा का प्रयोग सही रहेगा।

लिहाजा दुनियाभर में इन दवाओं पर रिसर्च शुरू हुई, जानकारी के आभाव में छोटे-छोटे हॉस्पिटल्स में मरीजों को PCM – Paracetamol जैसी बुनियादी दवाइयों के सहारे भी इलाज मोहिया कराया गया।

मगर दोबारा के सब छोटे उपाय कुछ खास कारगर नहीं थे फौरी तौर पर तपते शरीर में बुखार रोकने के लिए इन तरीकों को इख्तियार करना कुछ सही था मगर इसको एक स्थाई इलाज के रूप में देखना पृरी तरह गैरजिम्मेदाराना साबित होता।

और इसी कड़ी में लगातार चल रहे Medicine trials में एक नाम Remdesivir injections का भी था, अब पता ये लागना था कि क्या ये बीमारी सच-मुच कोरोना नाम की इस महामारी में कारगर है भी या नहीं, इस लिए इसपर भी मेडिसिन ड्राइव चलाया गया अलग-अलग मरीजों पर इस दवा का इस्तेमाल किया गया और निरन्तर उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों की समीक्षा की गई, इस रिसर्च के नतीजा रिसर्चर्स की सोच से कई अलग और चौकाने वाले थे।

असल में शुरुआती दौर में विज्ञानिक इस दवा के पिछले परफॉरमेंस – HIV-AIDS, IBOLA आदि में नाकामी को लेकर पहले ही सचेत थे मगर इस बार आश्चर्यजनक रूप से इस दवा ने अपना काम किया और ना केवल काम किया बल्कि बेहद ही सटीक तरह से काम किया।

स्टिड में ये पाया गया कि जिम मरीजों (Covid 19 से संक्रमित) पर इस दवा का इस्तेमाल हुआ उनके शरीर में हरारत, बदन एवं सर दर्द और सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों में कमी आई, उन मरीजों में धीरे-धीरे Oxygen level भी स्थित होने लगा और निष्कर्ष के रूप में उनकी हालत में धनात्मक (Positive) बदलाव आए।

वो लोग अब पहले से बेहतर महसूस कर रहे थे और उनके Lungs (फेफड़ों) में COVID 19 संक्रमण की intensity (गहनता) भी कम होने लग रही थी।

Read Also: IAS अफसर कैसे बनें?

☛रेमडेसिवीर इंजेक्शन साइडइफेक्ट्स (Remdesivir injection side effects) –

यूं तो Remdesivir injections कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए एक नई किरण बनकर सामने आ रहे हैं, परन्तु हर एक दवा की तरह इसके भी कुछ Side effects यानी दुष्प्रभाव हैं, जिन्हें जानना बेहद ही जरूरी है आइए उसपर भी एक निगाह डालते हैं।

आवश्यक निर्देश : रेमडेसिवीर इंजेक्शन केवल किसी प्रमाणित और अनुभवी डॉक्टर की राय पर ही लें, यूं ही बगैर किसी खास परेशानी के इस इंजेक्शन का इस्तेमाल कुछ खास दुष्प्रभावों को भी जन्म दे सकता है जो कई बार मरीज की सेहत के लिए हानिकारक और कई बार जानलेवा भी सिद्ध हो सकते हैं।

अगर मरीज के शरीर में इनमें से कोई भी लक्षण हैं :-

(1) Low blood pressure (निम्न रक्तचाप/रक्तदाब)

(2) Nausea (जी मिचलाना/उबकाई)

(3) Vomiting (उल्टी आना)

(4) Sweating (अनियमित रूप से पसीना आना)

(5) Shivering (कपकपी छूटना/शरीर कप-कपाना)

तो इस दवा का सेवन/प्रयोग नुकसानदेह हो सकता हैं, ऐसा करने पर शरीर में एक Infusion reaction (जलसेक प्रतिक्रिया) स्थान ले सकता हैं।

रेमडेसिवीर इंजेक्शन से‌ जुड़े कुछ सवाल जवाब (FAQ)

अब तक आप समझ गए होंगे कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? आईए अब रेमडेसिवीर इंजेक्शन से‌ जुड़े कुछ FAQ जान लेते हैंं।

☛रेमडेसिवीर इंजेक्शन कौन लगवा सकता हैं?


जवाब : इस सवाल का जावब पाने के लिए आपको हवाला दिया जा रहा हैं, नीचे बताई बातों पर गौर करें।

US FDA यानी “United states Food and Drug Administration” द्वारा हाल ही में जारी किए सर्कुलर में उन्होंने इस दवा को एक “First drug” यानी प्राथमिक और मुख्य दवा करार दिया गया हैं, लिहाजा हर बार तरह इस बार भी US FDA का साफ तौर पर यही कहना है कि ये दवा फिलहाल भी Emergency use authorization की ही श्रेणी में रखी गई हैं।


जिसके अंतर्गत आपातकालीन स्थिति अर्थात मरीज कि हालात को देख डॉक्टर उसे इस दवा का डोस दे सकते है मगर इसके लिए भी कुछ निश्चित मापदंडों को निर्धारित किया गया है, जैसे मरीज की उम्र 12 से ज्यादा और वजन 40 किलो से अधिक होना चाहिए।


वहिं अगर इसे लेकर भारत में स्वास्थ संस्थाओं – ICMR (Indian Council of Medical Research) और विशेषकर AIIMS (All India Institute Of Medical Science) की बात करें तो हाल ही में AIIMSD (एम्स दिल्ली) के निदेशक – डॉ. रणदीप गुलेरिया के बयान के अनुसार इस दवा का इस्तेमाल तभी कारगर है जब इसे आपतकालीन स्थिति में लिया जा, ये बात साफ करती है कि भारतीय संस्थाएं अब भी इस दवा के आम इस्तेमाल को लेकर श्शंकित हैं।


वहिं एक बात जो हम सबकी लगातार उलझन में डाल रही है वो है – ईस इजकेशन WHO (World Health Organization) का रुख, WHO द्वारा जारी Guidelines में Remdesivir को एक आम दवा का स्थान दिया गया है उनके अनुसार इसे किसी भी आयुवर्ग और वजन वाले मरीज को दिया जा सकता है, इसके लिए कोई निश्चित पैमाना नहीं हैं, बस अगर कोई व्यक्ति इस दवा से एलर्जीक है तो इसे लेने से बचे।

☛क्या मेडिकल स्टोर से रेमडेसिवीर इंजेक्शन खरीदा जा सकता हैं?


जवाब: स्प्ष्टट रूप से ये दवा आज के वक्त में कोविड मरीजों के इलाज के लिए एक गेम चेंजर साबित हो रही है जिसके चलते दिन-प्रति-दिन इसकि मांग बढ़ती ही जा रही है और इसी सिलसिले में इस दवा की सप्लाई में शॉर्टेज आ रही थी जिससे कि केमिस्ट वगैरह इस दवा की काला बजरी कर MRP (अध्कितम खुदरा मूल्य) से ज्यादा दाम पर बेच रहे थे।

जिसके चलते इसे यूं ही गैरपंजीकृत मेडिकल स्टोर्स पर बिकने से रोक लगा दी गई हैं, भारत में Remdesivir injections को बेचने के लिए सरकार द्वारा जारी एक विशेष लाईसेंस होना बेहद ही जरूरी हैं, और ना केवल लाइसेंस बल्कि रेमदिविसिर इंजेक्शन को लेकर सरकार द्वारा जारी किए गए नियमों व कानूनों को पालन भी अनिवार्य है जैसे ये दवा मरीज की हालत अनुसार एक निश्चित दाम – ₹899 में बेचा जा सकता हैं।

☛रेमडेसिवीर इंजेक्शन किस तरह की दवा हैं?


जवाब : Remdesivir इजेक्सजशन एक Anti-viral medicine है मूल रूप से इसकि खोज खोज से एक दशक (10 सालों) पहले हैपेटाइटिस के इलाज के लिए किया गया था। इस दवा का प्राथमिक और मुख्य उद्देश्य सब्जेक्ट की बॉडी में मौजूद Virus से लड़ना और उसे दूर भगाना ये दवा भी एक तरह Antibiotics medicine में शामिल हैं। उम्मीद है कि अब आप समझ गए होंगे कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है और ये किस तरह की दवा हैै।

☛रेमडीसिवीर दवा का पहली बार इस्तेमाल किस बीमारी के इलाज में किया गया था?


जवाब : रेमडीसिवीर दवा का पहली बार इस्तेमाल आज से 10 सालों पहले मरीजों में हैपेटाइटिस की बीमारी के इलाज में किया गया था। हैपेटाइटिस में ये दवा नाकाम रही थी क्लिनिकल ट्रायल में इस दवा का इस्तेमाल नाकाम रहा, और उस वक्त ये दवा fail रही।

☛रेमडेसिवीर इंजेक्शन लेना कब सही रहेगा?


जवाब : विश्वसनीय सूत्रों और प्रमाणित डॉक्टर्स द्वारा द्वारा जारी सलाह के अनुसार इस दवाई को लेना तभी बेहतर है जब मरीज की उम्र 12 साल से और वजन 40 किलों से अधिक को। मरीज की हालत वायरस से लगातार बिगड़ रही हो इतनी की वो अस्पताल में भर्ती (Hospitalized) हो, चूंकि इस दवा को अबतक भी एक Emergency application की श्रेणी में रखा गया हैं।

☛क्या आपको रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जरूरत है? (Do you need remdesivir injection?) –

जवाब: इस दवाई से जुड़ी ढेरों जानकारीयों को जानने के बाद अब वक्त एक अहम पहलू – “क्या मुझे सचमुच रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जरूरत है? या नहीं?” को जानने की, आइए जानते है। दोबारा एक बार दोहराना चाहेंगे कि इसपर अधिकांश स्वस्थ संस्थाओं और अनुभवी डॉक्टर्स का यही कहना है की इस दवा की जरूरत का सीधा सम्बन्ध मरीज की हालत पर निर्भर करता हैं, ऐसा हम कतै नहीं कहते कि हर कोविड मरीज को इसकि जरूरत पड़ती हैं।

बल्कि इस दवा की जरूरत महज उन चंद मरीजों को है जिनकी तब्यत Covid 19 संक्रमण के चलते ज्यादा खराब हो चुकी है, मसलन ऐसे मरीज जिन्हें illness यानी तब्यत ह्रास (खराबी) के पैमाने पर उतारे तो वे लोग जो कोविड के चलते थोड़े कम से मध्यम ज्वार का सामना कर रहे हो उनके लिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन आदर्ष दवा हैं।


रेमडेसिवीर दवा से जुड़ा एक Fact जो अबतक लोगों से अंजान है वो ये है कि ये दवा जल्द से जल्द Covid patient के भीतर मौजुद Corona virus से लड़कर उसका Hospital stay time यानी वो वक्त जब तक मरीज बीमार रहकर अस्पताल में भर्ती रहता था उसे कम कर रही हैज़ यानी जाहिर है ये दवा कोविड के संक्रमण से लड़ने में कारगर हैं।

हमने जान लिया कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग‌ क्या है और इससे जुड़े कुछ सवाल जवाब की भी हमने बात की। आईए अब रेमडेसिवीर इंजेक्शन से‌ जुड़े कुछ तथ्य और मिथकों की भी बात कर लेते हैं।

☛रेमडेसिवीर दवा से जुड़े कुछ तथ्य और मिथक (Facts & myth about Remdesivir medicine) –

• मिथक : रेमडेसिवीर दवा कोविड मरीजों में mortality rate यानी मृत्यु दर पर कोई प्रभाव नहीं डालती हैं, मरीज के मौत ना होने से इस दवा का कोई प्रत्यक्ष सम्बन्ध नहीं हैं।


• तथ्य : रेमडेसिवीर दवा के इस्तेमाल से मरीज का Hospital stay time यानी वो वक्त घटाया जा सकता है जो मरीज अपनी बीमारी के दौरान अस्पताल में बीतता है, ये दावा Virus को कमजोर करने में निहायती कारगर हैं (केवल कोविड वायरस में)।


• मिथक : “रेमडेसिवीर एक जादुई दवा”, अगर आप ये सोचे बैठे है कि कोविड संक्रमित मरीज के लिए रेमडेसिवीर एक जादू के रूप मे काम करेगी तो सतर्क हो जाईए चूंकि इस बात को लेकर रिसर्च में परिणाम स्प्ष्ट नहीं है, इस पर मरीजों के अनुभव मिश्रित रहे हैं।


• तथ्य : अगर मरीज को किसी भी बाहरी स्त्रोत जैसे Oxygen cylinder, Ventilator आदि द्वारा Oxygen सप्लाई नहीं दी जा रही या फिर मरीज को Higher Oxygen support की जरूरत पेश नहीं आ रही तो उस Case में ये दवा उस मरीज के लिए कुछ खास कारगर साबित नहीं होगी।

तो दोस्तों इस आर्टिकल में हमने जाना कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन क्या है? रेमडेसिवीर इंजेक्शन का उपयोग, और इससे जुड़ी बहुत सी जानकारी। उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा ऐसे ही और आर्टिकल्स के लिए बने रहिए हमारी वेबसाइट पर। और सांथ ही आप हमारे फेसबुक पेज को भी जरूर फॉलो करें।