नये हिंदुस्तान के कुछ महान शख्स।(world famous Indian personalities)

1733

नमस्कार दोस्तों मैं अंकुर श्रीवास्तव हाजिर हूं एक और नये आर्टिकल के साथ। दोस्तों आज हमारा देश भारत हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रहा है। चाहे वह विज्ञान हो, कला हो या फिर कोई भी क्षेत्र हो भारत के लोग हर जगह अपना एक महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। आज के इस लेख में हम कुछ ऐसे भारतीयों के बारे में बात करेंगे जिन्होंने पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया।

नोट- यहां पर हमने सिर्फ उन्हीं लोगों को सम्मिलित किया है जो इस समय जीवित हैं।

अनुक्रम

सुंदर पिचाई


शायद ही कोई व्यक्ति हो जो इन्हे ना जानता हो।
इन्हे सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में जाना जाता है। आधुनिक युग में इंटरनेेट के जानीमानी कंपनी गूगल के सीईओ हैं सुंदर पिचाई।


इनका जन्म भारत के तमिलनाडु के मदुरै शहर में हुआ था। इन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई चेन्नई में ही की इसके बाद आईआईटी खड़गपुर से B.tech की डिग्री प्राप्त की इसके बाद में उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से एमएस तथा पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री प्राप्त की।
अप्रैल 2004 में उन्होंने गूगल के साथ काम करना शुरू किया। सुंदर ने ही गूगल को यह सुझाव दिया था कि गूगल को अपना खुद का ब्राउज़र लांच करना चाहिए। एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम और गूगल क्रोम में सुंदर की अहम भूमिका रही है।
कई महत्वपूर्ण पदों पर रहने के बाद 2015 में उन्हें गूगल का सीईओ बनाया गया। गूगल को इतना ऊपर तक पहुंचाने में सुंदर पिचाई का अपना एक बड़ा योगदान है अगर आप सुंदर पिचाई की सैलरी जानना चाहते हैं तो यहां पर क्लिक करें।

सचिन तेंदुलकर


सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के इतिहास में विश्व के सबसे श्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिने जाते हैं।
सचिन तेंदुलकर वह व्यक्ति हैं जिन्हे कई बड़े क्रिकेटर अपना प्रेरणास्रोत मानते हैं। सचिन तेंदुलकर भारत रत्न प्राप्त करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। 2008 में उन्हें पद्म विभूषण से भी नवाजा गया।

सचिन तेंदुलकर का जन्म एक मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ था उनके पिता रमेश तेंदुलकर एक मराठी स्कूल में शिक्षक थे।
सचिन ने शारदाश्रम विद्यामंदिर में अपनी शिक्षा ग्रहण की वहीं पर उन्होंने अपने कोच रमाकांत अचरेकर के सानिध्य में अपने क्रिकेट जीवन की शुरुआत की। सचिन तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की दुनिया में एक जानी-मानी हस्ती हैं सचिन टेस्ट क्रिकेट में 14000 से भी ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी हैं। सचिन का रिकॉर्ड आज तक कायम है।
भारत रत्न से सम्मानित हो चुके सचिन तेंदुलकर के जीवन पर एक फिल्म ‘Sachin a billion dreams’ भी बन चुकी है।

डॉ. के सिवन


कैलासवटिवु सिवन दक्षिण भारत में जन्मे एक ऐसे व्यक्ति हैं जिनकी काबिलियत को आज पूरी दुनिया सलाम कर रही है। इसरो के कई महत्वपूर्ण मिशंस कैसे की चंद्रयान 2 आदि की सफलता तो पीछे इन्ही का हाथ है।

के सिवन इसरो यानी कि Indian space research organization के अध्यक्ष हैं। के सिवन का जन्म 14 अप्रैल 1957 को तमिलनाडु के तटीय शहर कन्याकुमारी में हुआ था वह एक गरीब किसान परिवार में पैदा हुए थे उनका शुरुआती जीवन काफी कठिनाइयों से भरा रहा। आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के बावजूद उन्होंने नागेरकोयल के एसटी हिंदू कॉलेज से बीएससी की पढ़ाई पूरी की। 1980 में Madras institute of technology(MIT) से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद IISc से इंजीनियरिंग की और आईआईटी मुंबई से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में पीएचडी की। सिवन 1982 में ही इसरो से जुड़ गए थे उन्होंने poler satellite launch vehicle(PSLV) परियोजना में अपना योगदान दिया। अप्रैल 2011 में वह जीएसएलवी के निर्देशक बने जनवरी 2018 को के सिवन ने इसरो प्रमुख का पद संभाला। आज पूरी दुनिया में इसरो की तारीफ होती है। इसरो को यहां तक पहुंचाने में सिवन का काफी बड़ा योगदान है।

लता मंगेशकर


भारत में स्वर कोकिला के नाम से प्रख्यात लता मंगेशकर को दुनिया के सबसे श्रेष्ठ गायकों में गिना जाता है। उनकी दिल को छू लेने वाली आवाज को ना सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है लता मंगेशकर को पूरे भारत में लता दीदी के नाम से संबोधित किया जाता है लता जी का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में एक मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ था संगीत के प्रति उनका लगाव बचपन से ही रहा है। उन्होंने लगभग 30 से ज्यादा भाषाओं में 30000 से ज्यादा गाने गाए हैं। उन्होंने अपना पहला गाना 1942 में एक मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ के लिए गाया था।


लता जी का गाना ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ आज भी बहुत लोकप्रिय है यह गाना सभी लोगों के अंदर देशभक्ति जगाने की ताकत रखता है।
2001 में लता जी को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न भी मिल चुका है।

तो दोस्तों इस आर्टिकल में हमने कुछ विश्व प्रसिद्ध भारतीय के बारे में जाना उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए मैं अंकुर श्रीवास्तव मिलता हूं आपको बहुत जल्द एक नये आर्टिकल के साथ तब तक के लिए नमस्कार