क्या होगा अगर titan पर जीवन हो?what if titan has life??

1862

हम मानव हमेशा से ही इस ब्रह्मांड मे जीवन को तलाशते आये है।एक आम इंसान के तौर पर हमारी उत्सुकता हमेशा से ही दो बातो को जानने मे रही है।पहली,पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत कैसे हुई??दूसरी,क्या इसी प्रकार की शुरुआत किसी और ग्रह पर भी हो चुकी है??हमे अभी इनमे से किसी भी सवाल के बिल्कुल ठोस जवाब नही मिले है इसलिए हम केवल इनके जवाबो की कल्पना करते आये है।और उन्ही कल्पनायो के सफर को तय करते हुए आज हम आये है titan ग्रह पर।एक ऐसा ग्रह जहाँ अभी तक के जितने भी ग्रह खोजे गये है उनमें से जीवन के होने की आशंका सबसे ज्यादा है।तो आज हम जानेंगे कि क्या titan पर जीवन है अगर है तो किस प्रकार का है??क्या वो हमारी पृथ्वी के जीवों की तरह दिखते है??क्या उनका और हमारा कोई संबंध है?? आइए जानते हैं ।
नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका “अंतरिक्ष की कल्पना” के दूसरे एपिसोड में और आज हम जानेंगे कि क्या होगा अगर titan पर जीवन हुआ??

Titan


Titan पर जीवन की तलाश करने से पहले हमें उसके बारे में कुछ बातें जान लेनी चाहिए।Titan ग्रह पर methane के बड़े-बड़े समुन्द्र और नदियाँ है। जिन को नहीं पता कि methane क्या होता है उनको मैं बता दूं कि methane एक carbon-compound होता है।titan पर नदियां होने के साथ-साथ एक घना atmosphere भी है जिसमे मुख्यतः रूप से nitrogen और methane गैस उपस्थित है।
अब आप सब लोगो के मन मे ये सवाल आ रहा होगा कि इन सब बातों का titan पर जीवन के होने से क्या संबंध। तो मैं आप लोगों को बताना चाहूंगा कि हमारे वैज्ञानिको के हिसाब से जीवन के पनपने के लिए जो वस्तुए अहम् है वो है carbon-compunds(methane), nitrogen, और liquid(तरल)। और अब तक यह बात आप लोग समझ चुके होंगे कि titan पर यह सभी चीजें प्रचुर मात्रा मे उपलब्ध है इसलिए वैज्ञानिकों का मानना है कि titan पर अवश्य ही इन सभी रसायनो ने मिलकर सूक्ष्म-जीवों का निर्माण कर दिया होगा और फिर जीवन सुक्ष्म जीवो से लेकर बड़े बड़े जीवो मे कैसे बदल जाता है ये तो हम सब लोग पृथ्वी पर देख ही चुके है।

Life on Titan

तो आइये अब titan के जीवों की बात करते है,तो सबसे पहले तो किसी भी ग्रह के जीवों को साँस लेने की आवश्यकता होती है और साँस लेने के लिए उन्हें कोई विशेष प्रकार की गैस जैसे oxygen चाहिए होती है।अब titan के वायुमंडल में oxygen न होकर मुख्यतः nitrogen और methane है जिन दोनों मे ही साँस लेना किसी भी जीव के लिए असम्भव है।
मगर अगर वो जीव titan की नदियों में रहते होंगे तो वो साँस लेने के लिए हाइड्रोजन का इस्तेमाल करके methane गैस छोड़ सकते है।
यह सुनने मे थोड़ा अजीब लगता है मगर हमारे वैज्ञानिको ने पता लगाया है कि पृथ्वी पर भी कुछ सुक्ष्म जीव इस प्रकिया द्वारा साँस लेते है और इस बात की भी संभावना है कि titan से आ रहे किसी meteor से वो जीव पृथ्वी और आये हो या फिर हो सकता है कि पृथ्वी से जा रहे किसी meteor से वो titan पर चले गए हो।

Titan
Titan पर methane की नदी।

अगर titan के जीवों के आवास की बात करे तो हम एक बात तो दावे से कह सकते है कि टाइटन के जिव ज़मीन पर नही बल्कि समुन्द्रों मे रहते होंगे। लेकिन समुन्द्रों मे रहते रहते वो जीव कितने विकसित हो चुके है यानि कि वो सूक्ष्म-जीव जितने छोटे है या विशालकाय dinasaurs जितने बड़े ये पता लगाना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि उनके methane के सगरो के नीचे क्या है वो आज भी संपूर्ण मानव जाति के लिए एक रहस्य है।लेकिन हाँ इस बात की बड़ी सम्भावना होगी कि टाइटन के जीव ज्वलनशील होंगे क्योंकि वह सभी methane छोड़ते होंगे और methane एक काफी ज्वलनशील पदार्थ है।तो अगर हम कल्पना करें की जैसे जब हम लोग बर्थडे पर मोमबत्ती पर फूक मारते है तो वो भुज जाती है मगर अगर कोई टाइटन वासी ऐसा करेगा तो वहाँ आग लग जाएगी।

इसी के साथ साथ उन सभी जीवों को अत्यंत ठंडे तापमान में रहने की आदत होगी क्योंकि टाइटन का तापमान -160℃ रहता है जो कि बेहद ही ठंडा है जिस कारण वहाँ पर oxygen और paani बर्फ मे जमे हुए है और कभी नही पिघलते। वे वहाँ पर जाकर अध्ययन करने वाले वैज्ञानिको के लिए oxygen का एक अच्छा स्त्रोत हो सकते है मगर क्या आपने कभी कल्पना की है कि अगर वो जमी हुई ऑक्सीजन पिघल गयी और मीथेन के साथ संपर्क मे आकर उसने आग पकड़ ली तो टाइटन का क्या होगा।अगर नही तो सोचना शुरू कर दीजिए।

यदि आपको हमारी कोई मदद चाहिए हो या आपके पास भी कोई इस topic से  संबंधित जानकारी हो जो आप हमें बताना चाहते हैं तो आप मुझे कमेंट कर सकते हैं।और आप ये जरूर बताए की आप अगला आर्टिकल किस topic पर पड़ना चाहते है आपसे मुलाक़ात होगी फिर किसी science topic के साथ तब तक के लिए जय हिंद!