TITAN-A Moon Of Saturn(शनि का एक चाँद)

1954

हमारा सौरमंडल काफी बड़ा और विशाल है और यहां के सभी objects काफी रहस्यमयी है ।आज हम एक ऐसे ही रहस्यमयी ऑब्जेक्ट titan के बारे में जानेंगे।आज हम ये पता लगाएंगे की titan कैसे बना??उसकी विशेषताएं क्या है??और titan मे ऐसा क्या है जो उसको दूसरे ग्रहों और और उनके चाँद से अलग बनाता है??

नमस्कार दोस्तों,स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट briefingpedia पर आज हम जानेंगे titan के बारे मे तो चलिए शुरू करते है।

अनुक्रम

TITAN

Titan शनि ग्रह का एक चांद है, जिसकी खोज सन 1655 में एक वैज्ञानिक जिनका नाम Christian Huygens था उनके द्वारा की गयी थी। Titan शनि ग्रह का सबसे बड़ा चांद होने के साथ साथ हमारे Solar System का दूसरा सबसे बड़ा चांद भी है ।यह हमारे पृथ्वी के चांद से करीब 50 प्रतिशत बड़ा और 80% भारी है ।Titan हमारे Solar system के ग्रह Mercury से भी बड़ा हैं और वैज्ञानिकों का कहना है की अगर Titan शनि ग्रह का चक्कर लगाने की जगह सूर्य का चक्कर लगाता तो यह भी ग्रहों की श्रेणी मे होता।

Titan की कक्षा(orbit) और घुमाव(rotation)

Titan हमारी पृथ्वी के चाँद की तरह tidally locked है जिसका मतलब यह है कि titan घूमता नही है और वह जिस तरफ से शनि ग्रह की ओर मुंह किए हुए हैं हमेशा उसी तरफ से  शनि ग्रह की ओर मुँह किए रखता है ठीक पृथ्वी के चाँद की तरह।

 अब अगर titan के orbit की बात करे तो Titan को शनि की परिक्रमा करने में 15 दिनों का समय लगता हैं,जिसका मतलब यह है कि titan पर एक दिन पृथ्वी के 15 दिनों के बराबर है।titan का orbit थोड़ा सा अंडाकार और टेढ़ा(inclined) है।

यह हमारी पृथ्वी से 12 लाख किलोमीटर दूर है और अगर हम  हमारी आज की technology से titan पर जाने की कोशिश करे तो हमको 7 साल का वक़्त लगेगा।

Titan का वातावरण

हमारे Solar System में करीब 150 चांद हैं परंतु इनमें से एक Titan ही ऐसा इकलौता चांद है जहाँ पृथ्वी की ही तरह  Atmosphere पाया जाता है जिसका मतलब यह है कि titan पर भी बादल है और हवा है। मगर जहां हमारी पृथ्वी पर 78% Nitrogen और 21% ऑक्सीजन  पायी जाती हैं वैसे ही Titan पर 94.2% Nitrogen और 5.6% Methane पायीं जाती हैं जिसके कारण कोई भी पृथ्वी वासी titan के वातावरण में सांस नहीं ले सकता। titan का atmospheric pressure भी पृथ्वी से 1,5 गुना ज्यादा है जिसके कारण वहां पर हम लोग थोड़ा दबाव महसूस करेंगे और इससे हमारी हड्डियां भी कमजोर हो जाएंगी।

Titan का जनम(formation of titan)

 Titan के बनने को लेकर वैज्ञानिकों ने कई theories दी है  जिसमें से सबसे प्रचलित है giant impact hypothesis जिसके अनुसार जब  शनि ग्रह का जन्म हुआ होगा उस वक्त कोई बहुत बड़ा ऑब्जेक्ट शनि ग्रह से आकर टकरा गया होगा जिससे शनि ग्रह का बहुत सा मलबा ऊपर अंतरिक्ष की ओर उड़ा होगा और फिर उस मलबे के इकट्ठे होने से titan का निर्माण हुआ होगा।बिलकुल यही theory पृथ्वी के चाँद के निर्माण के लिए भी दी जाती है।

Titan की खोजबीन(exploration of titan)

Titan पर हमारे वैज्ञानिकों ने 1997 मे Huygens नामक Spacecraft भेजा था जिसक नाम Astronomer Christian Huygens जिन्होंने titan को खोजा था उनके नाम पर रखा गया था।

यह Mission European Space Agency  और NASA के द्वारा भेजा व संचालित किया गया था।यह Mission 18 oct 1997 को धरती से शुरू हुआ था और 14 Jan 2004 को Titan पर उतरा था।उसके बाद इसने titan के तापमान और वातावरण के बारे में वैज्ञानिकों को जानकारी दी थी।

जिसको analyze करके हमारे वैज्ञानिकों ने यह पता लगाया कि Titan पर भी हमारी पृथ्वी की तरह तरल यानी की Liquid  है किंतु वहाँ का temperature -179 ℃ है जोकि हमारी पृथ्वी पर पायी जानेवाली सबसे ठंडी जगह Antarctica से भी कहीं ठंडा हैं।यह बहुत ही हैरान कर देने वाली बात थी कि इतने कम तापमान में भी किसी ग्रह पर तरल(liquid) कैसे पाया जा सकता है क्योंकि ज्यादातर तरल इतने कम temperature पर जम जाते है।इस बात ने हमारे वैज्ञानिकों को चौका दिया परंतु हमारे वैज्ञानिकों ने हार नही मानी और बहुत समय तक खोज करने के बाद उन्होंने यह पाया कि यह तरल और कुछ नही बल्कि methane gas है जो कि इतने कम temeperature पर तरल बन गयी है।इसी कारण सूरज से इतनी दूर होने के बावजूद भी Titan(moon) पर नदियां बहती हैं और तो और यहां पर सागर भी है हालांकि यह बात और है कि उनमे पानी नही methane भरी हुई है। यह इकलौता चांद है जिस पर हमारी पृथ्वी की तरह ही बादल भी है और उनसे बारिश भी होती है मगर यहां के बादल और बारिश भी methane के ही होते है।

Titan
Titan पर methane की नदी के ऊपर घूमता हुआ rover

हमारे वैज्ञानिकों ने पता लगाया हैं की पृथ्वी भी बहोत वर्षों पहले एसी ही प्रतीत होती थीं इसलिए आनेवले समय में यहा की परिस्थिति पृथ्वी की तरह की हो सकती हैं और यहाँ भी जीवन के संकेत मिल सकते है अगर आप जानना चाहते है कि क्या titan पर जीवन के पनपने के आसार है या नही तो आप यहाँ क्लिक करके इसपर हमारा article पड़ सकते है। आज के लिए इतना ही।science के नए और दिलचस्प topics का आनंद लेने के लिए subscribe कीजिये briefingpedia को।आपसे मुलाक़ात होगी फिर astronomy के किसी नए टॉपिक के साथ तब तक के लिए जय हिंद।