India में Bullet Train कब चलेगी

2385

नमस्कार दोस्तों, क्या आप भी बुलेट ट्रैन के आने का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है। अगर हाँ, तो हमारे साथ इस आर्टिकल पर बने रहिये क्योंकि यह हम आपको बुलेट ट्रेन से सम्बंधित सभी जानकारी देंगे। तो चलिए शुरू करते है। 

अनुक्रम

क्या है Bullet Train

बुलेट ट्रेन को जापान मे 1930 मे बनाया गया था। बुलेट ट्रेन भी एक प्रकार की ट्रेन ही होती है मगर ये आम ट्रेन्स से थोड़ी अलग होती है। जहाँ आम ट्रेन्स पहियो पर चलती है वही बुलेट ट्रेन बिना पहियो के चुम्बकीय बल से चलती है। बुलेट ट्रेन के ट्रैक्स इस तरीके से बनाये जाते है की ट्रैक्स और ट्रेन के बीच मे घर्षण(फ्रिक्शन) बहुत कम होता है और ट्रेन बहुत तेज़ी से चलती है। बुलेट ट्रेन की अधिकतम रफ्तार 320 किलोमीटर प्रति घण्टे की होती है। 

bullet train
Bullet train india

जापान बना रहा है Indian Bullet Train

भारत मे बुलेट ट्रेन लाने के लिए भारत सरकार ने जापान की सरकार के साथ समझौता किया है जिसमे बुलेट ट्रेन्स जापान मे बनाकर भारत मे निर्यात की जाएगी। इसके अलावा

एनएचएसआरसी को भारत मे बुलेट ट्रेन के लिए सभी प्रंबन्ध करने का जिम्मा सौपा गया है। एनएचएसआरसी का बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट मे मुख्य कार्य ट्रैक्स बिछाने का है। अभी ये कार्य बहुत धीमी गति से चल रहा है और इसी कारन एनएचएसआरसी पर भी कई सवाल उठाये जा रहे है।

Bullet train Route
Bullet train Route

Mumbai–Ahmedabad high-speed rail corridor

Mumbai–Ahmedabad high-speed rail corridor बुलेट ट्रेन की पहली लाइन होने वाली है। ये लाइन अहमदाबाद, गुजरात और मुम्बई को आपस मे जोड़ेगी। यह लाइन लगभग 500 किलोमीटर लंबी होगई और इसके बाद इन दो महानगरो के लोगो का दूसरे शहर जाना काफी आसान रहेगा। इस लाइन से दोनों की शहरो के आर्थिक विकास होने की उम्मीद जताई जा रही है। 

> BULLET TRAIN Official Website Here

कहाँ तक पहुंचा Bullet Train का काम

अभी इसका काफी सारा काम रहता है। इसके ट्रैक्स को बिछाने का काम 2020 के अंत तक शुरू किया जाएगा। इसको अप्रैल मे शुरू कर्म था मगर कॉरोना-वायरस के चलते इस कार्य मे देरी होगयी। सरकार का दावा है कि ट्रैक्स बिछाने का कार्य 3 साल के भीतर पूरा हो जाएगा। तो इस हिसाब से बुलेट ट्रेन का कार्य 2024 तक खत्म होगा और 2024 जनवरी में शायद पहली बुलेट ट्रेन चलेगी। मगर भविष्य मे इस कार्य मे और कितनी देरी होती है, इसका अंदेशा लगाना तो असम्भव है। हम सिर्फ आशा कर सकते है कि 2024 मे हम पहली भारतीय बुलेट ट्रेन देख पाए। 

Bullet train construction work
Bullet train construction work

कब तक शुरू हो सकती है India में bullet Train

भारत मे बुलेट ट्रेन को सबसे पहले 2022 तक चलाने की बात की जा रही थी। मगर फिर सभी कार्यो मे देरी हुई और फिर ये कहा गया कि 2023 तक बुलेट ट्रेन आ जाएगी। एमजीआर अब कोरोना-वायरस के चलते बुलेट ट्रेन का कार्य और एक वर्ष लेगा और बुलेट ट्रेन 2024 तक ही चलना शुरू होगी। मगर 2024 मे बुलेट ट्रेन का चलना भी फिलाल एक उम्मीद ही है। हो सकता है यह कार्य और आगे खीच जाए।

> नई शिक्षा नीति 2020 क्या है?
> Neeva Search Engine क्या है और Google को कैसे टक्कर देगा?
> Wireless Charging क्या है और वायरलेस चार्जिंग कैसे काम करती है?

कितनी तेज़ चलेगी India की Bullet Train

भारत मे भी बुलेट ट्रेन उसी रफ्तार से चलेगी जिससे वो विदेशो मे चलती है जोकि 320 किलो मीटर प्रति घण्टा है। यह पहली बार होगा जब भारत मे इतनी तेज़ रफ़्तार वाली कोई ट्रैन चलेगी। इसी हमे कितम फायदा होगा और हम कितनी प्रगिति करेंगे ये तो भविष्य मे ही पता चलेगा। 

कितनी Bullet Train चलेंगी India में

भारत मे ट्रैक्स बिछने के बाद कई बुलेट ट्रेन्स चलेंगी। इनकी मात्रा यात्रियों के उपर निर्भर करेगी। शुरुआत मे बुलेट ट्रेन मुबई-अहमदाबाद वाले रूट पर ही चलेगी। मगर फिर धीरे धीरे करके और लाइन बिछाई जाएंगी और देखते देखते एक दिन ये बुलेट ट्रेन पूरे देश के लोगो को एक जगह से दूसरी जगह पंहुचा रही होंगी। 

अभी फिलाल सरकार ने मुंबई-अहमदाबाद के बाद 6 और नए रूट पर बुलेट ट्रेन चलाने का सोचा है। 

1.865 Km-long Delhi – Noida – Agra – Kanpur – Lucknow – Varanasi corridor 

2.886 Km-long Delhi – Jaipur – Udaipur – Ahmedabad corridor 

3.753 Km-long Mumbai – Nasik – Nagpur corridor 

4.711 Km-long Mumbai – Pune – Hyderabad corridor 

5.435 Km-long Chennai – Bangalore – Mysore corridor 

6.459 Km-long Delhi – Chandigarh – Ludhiana – Jalandhar – Amritsar corridor

अभी India की सबसे तेज़ Train कौन सी है?

वन्दे भारत एक्सप्रेस आज के समय मे भारत की सबसे तेज़ रफ़्तार वाली ट्रेन है। इसकी अधिकतम रफ्तार 180 किलो मीटर प्रति घण्टा है। जबकि बुलेट ट्रेन की अधिकतम रफ्तार 320 किलो मीटर प्रति घण्टा है।

bullet Train Project पर कितना खर्चा होने वाला है?

बुलेट ट्रेन के मुम्बई-अहमदाबाद वाले प्रोजेक्ट पर 15 अरब डॉलर का खर्चा होने वाला है। यह एक बहुत ही महँगा प्रोजेक्ट है और इसका हमारी इकॉनमी पर काफी बड़ा असर पड सकता है। 

किन-किन को bullet Train के चलने से फ़ायदा होने वाला है

बुलेट ट्रेन जैसे प्रोजेक्ट के आने से आम तौर पर सभी को फायदा होता है। इससे उन सभी क्षेत्रो का आर्थिक विकास होता है जहाँ से ये बुलेट ट्रेन गुजरती है। हालांकि इससे मुख्यत उन लोगो को फायदा होगा जिन्हें बार-बार मुबई और अहमदाबाद के बीच यात्रा करनी पड़ती है। इससे उनका समय और पैसा दोनों ही बचेंगे। 

आज के आर्टिकल मे इतना ही। आपसे मुलाक़ात होगी फिर किसी नए टॉपिक के साथ। तब तक के लिए जय हिंद।