ब्रह्मांड की सबसे चमकीली चीज क्या है? Most brightest object in Universe.

2594

नमस्कार दोस्तों। दोस्तों अगर मैं आपसे पूछूं, ब्रह्मांड की सबसे चमकीली (Brightest Object) चीज क्या है? तो आधे से ज्यादा लोग सूरज कहेंगे, और बाकी आधे थोड़ा सोचेंगे और कहेंगे सूरज। लेकिन क्या सूरज जी हमारे ब्रह्मांड का सबसे चमकीला तारा है? अगर आप खगोल विज्ञान यानी एस्ट्रोनॉमी पढ़ने में रुचि रखते हैं, तो आप तो कह दोगे नहीं, लेकिन आधे से ज्यादा लोग सूरज ही कहेंगे। लेकिन सूरज हमारे ब्रह्मांड कि सबसे चमकीली चीज नहीं है। उसी चीज को जानने के लिए इस आर्टिकल को एकदम अंत तक जरूर पढ़िए।

अनुक्रम

किसी चीज की चमक को कैसे मापते हैं?

तो दोस्तों, अगर हमें ब्रह्मांड की सबसे चमकीली चीज, के बारे में जानना है, तो हमें एक किसी चीज की इकाई यानी यूनिट चाहिए होगी, क्योंकि अगर हम एक बल्ब को हमारी आंखों के सामने रखें, तो हमें वह सूरज से जादा चमकीला दिखाई देता है, लेकिन हम अगर दोनों को बराबर दूरी से देखें, तो दोनों का कोई मुकाबला ही नहीं है। इसलिए हमें एक ऐसी यूनिट चाहिए होगी, जिसमें दूरी का महत्व ना हो।
तो दोस्तों, आइए सबसे पहले उसके बारे में जानते हैं।

चमक मापने के लिए कौनसी यूनिट का इस्तेमाल होता है?

तो दोस्तों, खगोल शास्त्री किसी भी चीज की चमक मापने के लिए, दो यूनिट का सहारा लेते हैं। एक होती है, “अपेरेंट मेग्नीट्यूड” और दूसरी होती है, “एब्सलूट मेग्नीट्यूड”
तो दोस्तों, जैसा कि पहला यूनिट अपने नाम से ही दर्शाता है, अपेरेंट यानी प्रत्यक्ष या प्रकट। यानी किसी चीज की चमक, जितनी धरती पर दिखाई देती हो, उस चीज को मापने की है, यूनिट है, लेकिन जैसा कि आप यहां पर देख सकते हैं, यह एक फेयर यानी निष्पक्ष यूनिट नहीं है, क्योंकि कोई चीज बहुत चमकीली हो सकती है, और पृथ्वी से बहुत दूर भी हो सकती है, इसलिए खगोल शास्त्री एक दूसरी यूनिट की सहायता लेते हैं, और उसे “एब्सलूट मेग्नीट्यूड” कहते हैं। तो दोस्तों, यहां पर आप यूनिट के नाम में ही देख सकते हैं, एब्सलूट यानी पूर्ण। इसीलिए यह यूनिट, उस चीज की असली चमक दर्शाता है, क्योंकि इसमें किसी भी तारे की चमक 10 पारसेक यानी 32.6 प्रकाश वर्ष से देखा जाता है। और भ्रमण के सभी तारों के लिए एक ही दूरी होती है, इसके कारण हमें उनकी असली चमक पता चलती है। तो दोस्तों, आपने दोनों यूनिट के बारे में बारीकी से जान लिया, अब जानते हैं, कि यहां यूनिट कैसे काम करती है।

चमक कैसे मापी जाती है?

तो दोस्तों, किसी भी चीज के चमक को मापकर उन्हें एक संख्या दी जाती है, वह संख्या कैसे दी जाती है, इसके बारे में किसी और आर्टिकलर में जानेंगे, अभी के लिए बस इतना जान लीजिए, की जो संख्या जितनी कम होगी, उसकी चमक उतनी ज्यादा होगी, और संख्या नेगेटिव भी हो सकती है। तो दोस्तों, अब हम तुलना करेंगे ब्रह्मांड की सारी चीजों का, और पता लगाएंगे सबसे चमकीली चीज कौन सी है।

ब्रह्मांड की सबसे चमकीली चीज कौन सी है? Brightest Object in the universe

तो दोस्तों, हमारे सूर्य का अपेरेंट मेग्नीट्यूड – 26.7 है, और एब्सलूट मेग्नीट्यूड है, 4.83. और हमें रात के आसमान में जो सबसे चमकीला तारा दिखता है, वह है सीरियस, और उसका अपेरेंट मेग्नीट्यूड है, -1.46, और एब्सलूट मेग्नीट्यूड है, 1.4, और हमारे सूर्य से 70 गुना ज्यादा चमकदार हैं।
हमारे ब्रह्मांड का सबसे चमकीला तारा R136A1 जिसका अपेरेंट मेग्नीट्यूड 12.23 है, एब्सलूट मेग्नीट्यूड – 8.09 है, जो कि हमारे सूर्य से 8600000 गुना ज्यादा चमकदार हैं। याद रखिए जो नंबर से इतना ज्यादा कम होगा, वह चीज उतनी ज्यादा चमकदार होगी।

तारों से भी चमकीली चीज!

तो दोस्तों, में आपको बताना चाहूंगा हमारे ब्रह्मांड में, तारों से भी चमकीली कई सारे चीजें होती हैं, और सुपरनोवा उन्हीं में से एक है। सुपरनोवा एक सितारे से कहीं ज्यादा चमकीले होते हैं, और अब तक के सबसे चमकीले सुपरनोवा का नाम है, ASSASSIN 15-LH. इसका एब्सलूट मेग्नीट्यूड – 23.5 है। जो हमारी पूरी आकाशगंगा से 20 गुना ज्यादा चमकीला है। तो दोस्तों, इससे अंदाजा लगा सकते हैं, कि सुपरनोवा कितने चमकीले होते हैं। एक तारे से अरबों खरबों गुना चमकीले होते हैं। लेकिन यह भी हमारे ब्रह्मांड के सबसे चमकीले चीजों के आसपास भी नहीं हैं।

ब्रह्मांड की सबसे चमकीली चीज! (Brightest object in the universe)

तो दोस्तों, आप सभी ने ब्लैक होल का नाम तो सुना होगा, जब कोई चीज़ उसके अंदर गिरती हैं, तब वह सीधी नहीं गिरती, लेकिन घूमते हुए दूसरी चीजों के साथ, घीसते हुए गिरती है, और उससे काफी चमक पैदा होती हैं। और इतनी चमक पैदा होती हैं, जितना आप सोच भी नहीं सकते, आप सभी को लग रहा होगा, ज्यादा से ज्यादा कितनी चमक पैदा होगी, लेकिन ऐसा नहीं है, क्योंकि ब्लैक होल चीजों को काफी तेजी से घूमाता है, जिसके कारण एक ऐसी चमक पैदा होती है, जो हमारे ब्रह्मांड का सबसे चमकीली होती हैं। जिसे हम कहते हैं, “क्वेसार”। तो दोस्तों, यह इतने चमकीले होते हैं, कि हमारी मिल्की वे गैलेक्सी, से 1000 गुना चमकीले भी हो सकते हैं। quasars are the most brightest object in the universe.

अब तक का‌ सबसे चमकीला क्वेसार कोनसा है? (Brightest Object – quasar)

तो दोस्तों, अब तक के सबसे चमकीले क्वेसार का नाम है, “J043947.08+163415.7”. यह क्वेसार हमसे 12.8 अरब प्रकाश वर्ष दूर देखा गया था। इसका एब्सलूट मेग्नीट्यूड – 31.6 था। यह क्वेसार हमारे सूरज से 600 ट्रिलियन गुना ज्यादा चमकीला था। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं, की यह कितना ज्यादा ज्यादा ज्यादा चमकीला होगा।

तो दोस्तों, यह थे क्वेसार ब्रह्मांड के सबसे चमकीले चीजें। आपको कैसा लगा इनके बारे में जानकर, जरूर से मजा आया होगा।

तो दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? अगर आप अपनी ज्ञान की सीमा को और बढ़ाना चाहते हैं, तो आप हमारे वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं। briefingpedia.com

और हम सभी के युटुब चैनल को भी जरूर सब्सक्राइब करें।
सब्सक्राइब करने के लिए चैनल के नाम पर क्लिक करे।

विकिपीडिया से जाने सबसे चमकीली वास्तु के बारे में
अन्तरिक्ष के बारे में और पढ़े