महेंद्र सिंह धोनी ने इतनी शानदार कप्तानी के बावजूद क्यों लिया सन्यास

2070

आज हम जानेंगे पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल के सफर के बारे में वह भी पूरी डिटेल में. और महेंद्र सिंह धोनी के इतनी जल्दी सन्यास लेने के उपर क्या कारण हो सकता है उसके बारे में भी हमने बहुत अच्छे से बताया है.

महेंद्र सिंह धोनी Mahinder Singh

अनुक्रम

महेंद्र सिंह धोनी परिचय

महेंद्र सिंह धोनी का जन्म झारखण्ड के रांची में एक मध्यम वर्गीय राजपूत परिवार में हुआ वेसे उनके पिता का नाम पान सिंह व माता का नाम श्रीमती देवकी देवी है. उनके पैतृ जहां उनके पिताजी श्री पान सिंह मेकोन कंपनी के जूनियर मैनेजमेंट वर्ग में काम करने लगे. धोनी की एक बहन है जिनका नाम है जयंती देवी है जो की धोनी से बहुत लगाव भी रखती है और मैच खेलते वक्त अक्सर वह उनके पास भी होती है और एक भाई है जिनका नाम नरेन्द्र महेंद्र है.

महेंद्र सिंह धोनी लव लाइफ-

धोनी जब सफलता के शिखर पर थे. तो उन्होंने जीवनसाथी के रूप में साक्षी रावत को चुना और 4 जुलाई 2010 में बिना किसी भीड़भाड़ और शोरशराबे के बड़ी ही सादगी के साथ शादी कर ली. धोनी से 7 साल छोटी साक्षी का जन्म 19 नवंबर 1988 में गुवाहाटी में हुआ. साक्षी के पिता आरके सिंह भी धोनी के पिता के साथ मेकॉन लिमिटेड में नौकरी करते थे. घर पर पहले से ही आना जाना होता था इसलिए धोनी और साक्षी एक दूसरे को बहुत पहले से जानते थे।

साक्षी जब धोनी के साथ परिणय सूत्र में बंधी तो वह होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रही थी । धोनी की लाइफ पर बनी बायोग्राफी में दिखाया गया जो की “शुशांत सिंह राजपूत ने बनायीं है”. कि कलकत्ता के होटल में ही दोनों की पहली मुलाकात हुई वो महज फिल्म में इंट्रेस्ट पैदा करने के लिए था. बाकी दोनों एक दूसरे को न सिर्फ जानते थे बल्कि दूर से भी पहचान जाते थे. साक्षी रावत से धोनी बनी साक्षी लगभग हर दौरे पर धोनी के साथ जाती हैं. वह मैदान में उन्हें चीयर करती हैं खुद महेंद्र सिंह भी उन्हें अपनी सफलता का श्रेय देते हैं. आज उनकी एक लड़की भी है जिसका नाम ज़ीवा धोनी है. जिससे वह बहुत प्यार भी करते है आपने मैच में बहुत बार देखा भी होगा.

धोनी पहले क्या करते थे-

शुरू में धोनी अपनी फूटबाल टीम के गोलकीपर थे और अपने कोच की सलाह पर वे क्रिकेट में आ गए. अपनी शानदार विकेटकीपिंग के जरिये उन्हें एक लोकल क्रिकेट क्लब (कमांडो क्रिकेट क्लब) में खेलने का मौका मिला जहाँ वह 1995 से लेकर 1998 तक खेलते रहे. वीनू मांकड़ अंडर 16 चैंपियनशिप में उन्होंने शानदार खेल दिखाया. उनको वचपन से ही क्रिकेट का काफी शौक था.

Also Read : 10 गुना ज्यादा यूरेनियम मिला ईरान के पास से

धोनी कब से खेल रहे हैं-

23 दिसंबर 2004 का ही वो दिन था. जब महेंद्र सिंह धोनी ने पहला अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेला था. यह मैच बांग्‍लादेश के खिलाफ चटगांव में खेला गया था. तब भारतीय क्रिकेट टीम के कप्‍तान सौरव गांगुली हुआ करते थे. वही से ही धोनी के करियर शुरुआत हुयी.

धोनी कई कप्तानी-

कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी ने शनिवार की शाम इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. 15 अगस्त यानी कि देश के स्वतंत्रता दिवस के खास मौके पर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा है. क्या आप जानते हैं कि एमएस धौनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के लिए 15 अगस्त को ही क्यों चुना है. महेंद्र सिंह धोनी हिंदुस्तानी क्रिकेट टीम के कुछ चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक थे. उनकी अहमियत का इसी से अंदाज़ा लगाया जा सकता है. कि धोनी के ऐलान के कुछ ही देर बाद सुरेश रैना ने अपनी रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है. बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी ने न जाने कितने ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं. जिन्हें किसी भी खिलाड़ी के लिए तोड़ना बेहद मुश्किल होगा.

तो आइए उनके करियर पर एक नज़र डालते हैं. महेंद्र सिंह धोनी ने 90 टेस्ट मैचों में 4,876 रन बनाए हैं. जिसमें उन्होंने 6 सेंचुरी व एक डबल सेंचुरी और 33 हाफ सेंचुरी बनाईं है. इसके अलावा अगर टेस्ट मैच के हाई स्कोर की बात करें तो उन्होंने 224 रन बनाए हैं. इसके अलावा वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने 350 वनडे मैच खेले हैं और 10,773 रन बनाए हैं. जिसमें उन्होंने 10 सेंचुरी और 73 हाफ सेंचुरियां बनाई हैं. वनडे मैच में हाई स्कोर की बात करें तो उन्होंने 183 रन बनाए हैं. टी-20 की बात करें तो धोनी ने 98 टी-20 मैच खेले हैं. जिनमें उन्होंने 1,617 रन बनाए हैं. टी-20 करियर में उन्होंने सिर्फ 2 हाफ सेंचुरी बनाई हैं. जिसमें उनका हाई स्कोर 56 रन है. आईपीएल में धोनी ने 190 मैच खेले हैं और 4,432 रन बनाए हैं. जिसमें उन्होंने 23 हाफ सैंचुरी बनाई हैं. आईपीएल में उनका हाई स्कोर 84 रन रहा है.

शुशांत सिंह राजपूत कौन है-

सुशांत सिंह राजपूत का धोनी और क्रिकेट से खास कनेक्शन रहा है, रील लाइफ धोनी के किरदार में सुशांत सिंह राजपूत ने लोगो का दिल जीत लिया था. उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक ‘एमएस धोनीः द अनटोल्ड स्टोरी’ में लीड रोल निभाया था. सुशांत ने इस फिल्म में अपनी एक्टिंग से सबका दिल जीत लिया था. इस फिल्म के सिलसिले में वो धोनी के साथ भी काफी समय रहे. जिसकी वजह से उनका और धोनी का तालमेल अपने भाई जैसा हो गया था. और सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून 2020 (उम्र 34) बांद्रा, मुंबई, महाराष्ट्र में आत्म हत्या कर ली. अभी ये कहना सही नही होगा की उन्होंने आत्महत्या की या फिर उनको मारा गया है. अभी उनका केश चल रहा है. अब सीबीआई उनके केश की जाँच कर रही है. सुशांत की मौत पर धोनी ने कोई भी कमेन्ट नही किया था अपने सोशल मीडिया पर, पर वह दुखी तो बहुत थे लेकिन जाताना नही चाहते थे. शायद यही कारण हो सकता है धोनी के सन्यास लेने के उपर.

और अगर आप ऐसे ही कमाल के आर्टिकल और पढ़ना चाहते है, तो नोटिफिशन ऑन करे और जैसे हमारी वेबसाइट पर कोई नया आर्टिकल आएगा आपको उसका नोटिफिशन मिल जाएगा।

अगर आप अपनी ज्ञान की सीमा को और बढ़ाना चाहते हैं, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर विजिट कर सकते हैं।