BA का फुल फॉर्म क्या है? BA ka full form

1695

क्या आप जानते हैं कि BA का फुल फॉर्म क्या है? अगर नहीं तो इस आर्टिकल में बने रहिए क्योंकि यहा पर हम आपको बताने वाले हैं कि BA ka full form kya hai और ना सिर्फ BA ka full form बल्कि BA से जुड़ी सारी जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिलेगी।

BA ka full form kya hai
BA ka full form kya hai?

अनुक्रम

BA का फुल फॉर्म क्या है? BA ka full form kya hai

BA ka full form होता है Bachelor of arts

B- Bachelor

A- Arts

Bachelor of Arts ये ba ka english फुल फार्म होता है। अगर बात करे BA Full Form in Hindi की तो ये है कला स्नातक। Bachelor of Arts को हिंदी में कला स्नातक कहा जाता है।

यह भी पढ़ें: ATM का फुल फॉर्म क्या होता है? ATM ka full form kya hai

BA क्या है? what is BA

B.A. जिसका पूरा नाम Bachelor in Arts (बैचलर इन आर्ट्स) होता है, एक 3 वर्ष का अंडर ग्रैजुएशन कोर्स है जोकी विद्यार्थी 12वीं कक्षा के बाद कर सकते हैं। विद्यार्थी BA को फुल टाइम, पार्ट टाइम, कॉरस्पॉडेंस या डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी कर सकते हैं।

बीए भारत में सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाला कोर्स है। BA करने के बाद भविष्य में काफी सारी रोजगार/नौकरियां है। BA में एडमिशन कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि एंट्रेंस एग्जाम देकर या फिर मेरिट आधार पर 12वीं के मार्क्स से। BA में भी कई तरह के कोर्स होते हैं जैसे कि-

  • B.A. इन पॉलिटिकल एससीआई
  • BA इन हिंदी
  • BA इन इंग्लिश
  • BA इन जर्मन
  • BA इन ज्योग्राफी
  • BA इन इकोनॉमिक्स
  • BA इनन सोशियोलॉजी
  • BA इन साइकोलॉजी
  • BA इन लाइब्रेरी साइंस
  • BA इन हिस्ट्री आदि।

विद्यार्थी BA सरकारी यूनिवर्सिटी या प्राइवेट यूनिवर्सिटी से कर सकता है। फीस की बात करें तो सरकारी यूनिवर्सिटी की फीस प्राइवेट यूनिवर्सिटी की उपेक्षा में थोड़ी कम होती है, जहां सरकारी यूनिवर्सिटी की फीस लगभग 10000 से 20000 तक है वही प्राइवेट यूनिवर्सिटी की फीस 20000 से 60000 तक हो सकती है।

अब तक हम ba ka full form और इससे जुड़ी थोड़ी जानकारी प्राप्त कर चुके हैं आईए अब जानते हैं कि BA कौन कर सकता है।

BA कोन कर सकता हैं।

BA एक अंडर ग्रेजुएशन 3 साल का कोर्स है जो कि विद्यार्थी 12वीं कक्षा के बाद संबंधित यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं। BA एक बहुत विस्तृत क्षेत्र है जिसमें कई तरह के कोर्से आते हैं। BA करने के लिए मैथ्स या साइंस आना जरूरी नहीं है।

यह कोर्स करने के लिए फर्क नहीं पड़ता कि विद्यार्थी के पास 12वीं में कौन से विषय थे जैसे कि विद्यार्थी चाहे विज्ञान से हो या कॉमर्स से हो या फिर आर्ट्स से, यह कोर्स कर सकता है। यह कोर्स करने के लिए कम से कम उम्र 17 साल होनी चाहिए। BA कोर्स में दाखिला दो प्रकार से लिया जा सकता है।

1. BA करने के लिए विद्यार्थी के 12वीं में 40 परसेंट से 50 पर्सेंट होने आवश्यक है। अलग अलग यूनिवर्सिटी अपनी कट ऑफ लिस्ट निकालती है, जो भी विद्यार्थी कट ऑफ पार कर लेता है वह उस यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सकता है। इसमें ऐसी/एसटी/ओबीसी/दियांग जन के लिए कुछ ढील होती है। अगर कोई विद्यार्थी भारत की सबसे श्रेष्ठ यूनिवर्सिटी जैसे दिल्ली यूनिवर्सिटी, मुंबई यूनिवर्सिटी आदि से करना चाहते हैं तो उन्हें 12वीं में कम से कम 90 से ऊपर परसेंटेज लाने होंगे।

2. बात करें एंट्रेंस एग्जाम की तो अलग-अलग यूनिवर्सिटीज BA के लिए अलग-अलग एंट्रेंस एग्जाम लेती है जैसे डीयूईटी, जेएनयूईई, बीएचयू यूआईटी, आईपीयू सीईटी आदि।BA में विषयBA एक बहुत ही विस्तृत क्षेत्र है जिसमें अलग-अलग विशेषज्ञता आती है जैसे

B.A. इन political science

BA इन हिंदी BA इन इंग्लिश

BA इन जर्मन

BA इन ज्योग्राफी

BA इन इकोनॉमिक्स

BA इनन सोशियोलॉजी

BA इन साइकोलॉजी

BA इन लाइब्रेरी साइंस

BA इन हिस्ट्री आदि।

हर विशेषज्ञता के अपने अलग-अलग विषय होते हैं लेकिन निम्न विषय सब में एक जैसे रहते हैं इनमें ईलेक्टिव विषय भी शामिल है।

  • फाउंडेशन कोर्स इन इंग्लिश
  • एग्रीकल्चर डेवलपमेंट इन इंडिया
  • फाउंडेशन कोर्स इन हिंदी
  • गवर्नमेंट एंड पॉलिटिक्स इन इंडिया
  • एडमिनिस्ट्रेटिव थ्योरी
  • अंडरस्टैंडिंग पोएट्री
  • इंडियन फिलासफी
  • इकोनामिक डेवलपमेंट
  • इंडियन इकोनामिक डेवलपमेंट
  • सोशल प्रॉब्लम्स इन इंडिया

BA के 3 साल के दौरान विद्यार्थी को इस तरह पढ़ाया जाता है कि ग्रेजुएट होने के बाद उसे भारत के इतिहास विश्व के इतिहास संस्कृति राजनीति पर्यावरण एवं अर्थशास्त्र का ज्ञान हो।

BA के लिए यूनिवर्सिटीज व कॉलेज

12वीं करने के बाद विद्यार्थी किसी भी यूनिवर्सिटी से बीए कर सकता है। भारत में कई सारी सरकारी एवं प्राइवेट यूनिवर्सिटीज एवं कॉलेज है जो BA कराते हैं।

इनमे दिल्ली यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई यूनिवर्सिटी को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। सरकारी यूनिवर्सिटी एवं कालेज:लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वूमेन, दिल्लीहंसराज कॉलेजहिंदू कॉलेज सेंट जेवियर क्रिस्ट यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु मीरांडा हाउस, न्यू दिल्ली आदिप्राइवेट यूनिवर्सिटी एवं कॉलेजडी ए वी कॉलेज फॉरवुमन, चंडीगढ़ सेंट जोसेफ्स कॉलेज, बेंगलुरु लोयोला कॉलेज, चेन्नई फर्गुसन कॉलेज, पुणे सिंबायोसिस कॉलेज ऑफ आर्ट एंड कॉमर्स आदिसरकारी कॉलेजों मैं BA की फीस प्राइवेट कॉलेजों के अपेक्षा कम होती है।

BA के लिए सरकारी कॉलेज में फीस 10000 से 20000 तक हो सकती है वहीं BA के लिए प्राइवेट कॉलेज की फीस की फीस 20000 से 70000 तक हो सकती है।ग्रेजुएशन खत्म करने पर डिग्री मिलने के बाद नौकरी सालाना चार लाख से चार लाख तक लग सकती है।

यह भी पढ़ें: MLA का फुल फॉर्म क्या होता है? MLA ka full form

BA के बाद कैरियर

जैसा कि पहले कहा गया बीए एक विस्तृत क्षेत्र है। B.a. करने के बाद व्यक्ति किसी एक क्षेत्र तक सीमित नहीं रहता, उसके लिए कई सारी अपॉर्चुनिटी खुल जाते हैं। व्यक्ति चाहे तो BA के बाद भी पढ़ाई जारी रख सकता है जैसे कि MA, M.Ed, MBA, LLB आदि। B.a. करने के बाद व्यक्ति सरकारी एवं प्राइवेट नौकरी कर सकता है।

अगर बात करी जाए सरकारी नौकरी की तो उसमें व्यक्ति यूपीएससी, एसएससी, सीजीएल, रेलवे आदि के एग्जाम दे सकता है और दूसरी तरफ प्राइवेट कंपनियों में मार्केटिंग मैनेजर, ऑपरेशन मैनेजर, कांटेक्ट राइडर, एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट, ग्राफिक डिजाइनर, ऑपरेशन टीम लीडर, बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर आदि की नौकरी कर सकता है।

इन क्षेत्रों में तनख्वाह चार लाख से सात लाख तक हो सकती है। यह तनख्वाह कंपनी और नौकरी पर भी निर्भर करता है। कुल मिलाकर देखा जाए कुछ तो BA करना एक अच्छा करियर विकल्प है जहां पर एक व्यक्ति ग्रेजुएशन करने के बाद अपने मन चाहे क्षेत्र में जा सकता है जैसे कि कोई प्राइवेट या सरकारी नौकरी करना जहां एक अच्छी खासी तनख्वाह है या फिर आगे की पढ़ाई करना।

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने जाना कि ba ka full form kya hota hai और साथ ही हमने BA के बारे में बहुत सी जानकारी प्राप्त की उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा ऐसे ही और आर्टिकल्स के लिए बने रहिए हमारी वेबसाइट के साथ और साथ ही हमारे फेसबुक पेज को भी जरूर फॉलो करें।