देश और दुनिया के इतिहास मे 15 दिसंबर की तारीख – आज का इत्तिहास

1275

देश और दुनियाभर के इतिहास में आज की तारीख यानी ’15 दिसंबर’ बहुत गहरा इतिहासिक महत्व रखती है , क्योंकि आज ही के दिन कई बड़ी घटनाये घटित हुई और साथ ही अनेक महान हस्तियों का जन्म हुआ , तो चलिए आइए अब हम एक नज़र डालें आज के इत्तिहास पर।

सरदार वल्लभभाई पटेल

• घटनाये :

(1) 1961: नाज़ी जर्मनी के तानशा और विश्व युद्ध-द्वितीय के वाहक अडोल्फ हिटलर का नीतिनिर्माता जिसने की सोची-समझी साजिश से यहूदियो को मौत के घाट कार्यक्रम चलाने वाले आयोजक आडोल्फ आइषमन को आज के दिन वर्ष 1961 में समकालीन अंतरराष्ट्रीय न्यायिक अदालत ने मौत की सजी सुनाई थी, आडोल्फ आइषमन ने ही विश्वयुद्ध द्वितीय के दौरान लाखो-करोड़ो निर्दोष यहूदियो की मौत की साजिश की थी।

(2) 1973: आज ही के दिन वर्ष 1973 में अरब-इस्राइल युद्ध (Arab-Isreal War) के दौरान अमेरिका के तीखे रुख देखते हुए अरबी देशों ने अमेरिका को तेल बेचने से इनकार कर दिया था और साथ ही संयुक्त राज्य के ऊपर कई और भी व्यापारिक प्रतिबंध लगाए थे, जिसने आगे चलकर वैश्विक आर्तव्यस्था की कमर तोड़ दी थी और तेल की कीमित अचानक $3 प्रति बैरल से बढ़कर अचानक $11 प्रति बैरल जा पहुची थी जो शायद अब तक का सबसे बड़ा उछाल था।

(3) 2004: आज ही के दिन वर्ष 2004 में एक अत्यंत विचित्र राजनीतिक घटना हुई थी जब ब्रिटिश विदेश मंत्री डेविड ब्लंकेट को एक आरोपो सिद्ध होने पर स्तीफा देना पड़ गया था और ये आरोप उनके घर मे काम करने वाली एक महिला को आपने प्रभाव का गलत इस्तेमाल कर पसप्पोर्ट जल्दी जारी कराना था,जो कि देखने मे भले ही सामान्य लगता है परन्तु यह देश के कानून और विदेशनीति के खिलाफ था।

(4) 2001 : आज ही के दिन वर्ष 2001 में पिसा, इटली के द लीनिंग टावर (The Learning Tower) को $27 मिलियन अमेरिकी डॉलर की पुनः राशि प्रप्ति (Realignment) के बाद एक बार फिर आम जनता के लिए खोल दिया गया था, इससे पहले यह पूरे एक दशक तक ऐसे ही बंद पड़ा रहा था।

(5) 2000 : आज ही के दिन वर्ष 2000 में अंततः एक बड़े परमाणु/नाभिकीय (Atomic/Nuclear) हादसे के बाद यूक्रेन के नुक्लेअर सयंत्र को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया था , यहां आए दिन हादसे हो रहे थे जिया कारण जान और माल के नुकसान के साथ ही असंतुलन की सीथिति भी बन जाती थी सरकार ने वर्ष 2000 को इसे अधिकारिक तौर पर हमेशा के लिए
सील कर दिया था,जो कि आज तक ऐसे ही बंद पड़ा है।

(6) आज ही के दिन वर्ष 1612 में महान इतावली खगोलशास्त्री साइमन मौरिस वह पहले व्यक्ति बने जिन्होंने धरती की सतह पर रहते हुए किसी दूरबीन (Telescope) की सहायता से पड़ोसी आकाशगंगा एंड्रोमेडा (Andromeda) को देखा, उस वक्त यह बड़ी रहस्यमय और चौकाने वाली घटना थी।

जन्म :

(1) 1852: आज ही के दिन वर्ष 1852 में फ्रांस की राजधानी -पेरिस में स्थित एफिल टावर के निर्माता और रचनाकार गुस्‍ताव एफिल का जन्म फ्रांस के एक प्रांत दीजोन में हुआ था , इन्होंने सिविल इंजीनियरिंग और आधुनिक वास्तुकला विज्ञान में अपनी अहम भूमिका अदा की थी।

(2) 1972: आज ही के दिन वर्ष 1972 में महान भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बाइचुंग भूटिया का जन्म सिक्किम प्रांत के तिन्कितम गांव में हुआ था, बाइचुंग भूतिया ने बचपन के सामान्य जीवन के पर जाकर देश के लिए कई शानदार खिताब हसिल किये है।

(3) 2004: आज ही के दिन वर्ष 2004 में महान जैविक-भौतिकशस्त्री मौरिका विकिन्स का जन्म न्यूजीलैंड के पोनग्रो प्रांत में हुआ था उन्होंने आपने जीवनकाल में एक्स-रे (X-Ray) द्वारा सुष्मकौशिकाओ जैसे कि D.N.A – Deoxyribonucleic acid का अध्ययन और शोध कार्य सम्पन्न किया था।

(4) 1869: आज ही के दिन वर्ष 1869 में में महान अमेरिकी भूगोल्वेदता (Geoglogist) का जन्म अमेरिका के न्यूजर्सी प्रांत में हुआ था, उन्होंने पृथ्वी की उत्पत्ति और अवसाधि चट्टानों (Origin of earth & Metamorphic rocks) पर भारी शोध कार्य किये जिससे उन्होंने भारी वैश्विक ख्याति मिली

मृत्यू :

(1) आज ही के दिन वर्ष 1950 को महान भारतीय क्रांतिकारी और राजनेता लौह पुरुष. सरदार वल्लभ भाई पटेल का निधन मुम्बई में हुआ था, उन्होंने ब्रिटिश-भारत को आजादी की कैद से छुड़वाने के लिए हर संभव प्रयास किया था उन्हें यह देश उनके अखंडता और एकता के लिए दी गयी सीख को देश सदैव याद रखता है।

(2) आज ही के दिन वर्ष 1816 में महान ब्रिटिश राजनीतिज्ञ और नीतिनिर्माता चार्ल्स स्टेन्फोन्स का निधन लंदन में हुआ, उन्हें उनके कई साहसिक और निर्णायक सिद्ध होने वाले फैसलों के लिए याद रखा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here