किसान परेड को लेकर किसानों और पुलिस में बनी सहमति।

1850

किसानों और सरकार के बीच कृषि कानून को लेकर जो विवाद है उससे पूरा देश परिचित है। इस विवाद के चलते किसान दिल्ली के बोर्डर पर नये कृषि कानूनों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर नये कानूनों के विरोध में किसान गणतंत्र परेड का आयोजन कर रहे हैं।
इस मामले को लेकर किसानों और पुलिस के बीच सहमति बन गई है और 26 जनवरी को किसान इस परेड का आयोजन करने वाले हैं।

गणतंत्र दिवस के मौके पर पूरे देश से किसान अपने ट्रैक्टर लेकर इस परेड में शामिल होंगे। शायद यह भारत के इतिहास में पहली बार होगा।

Full Video 👇 आप नीचे जा कर खुद देख सकते है’ 👇

नये कृषि काले कानूनों के विरोध में है प्रदर्शन

बता दें कि ये प्रदर्शन नये कृषि कानूनों के विरोध में किया जा रहा है। कुछ महीनों पहले ही भारत सरकार ने कृषि को लेकर नये कानून पास करवाये थे। जिस पर भारत के कई किसान संगठनों ने असहमति जताई है। ऐसे में किसान इन कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। खासकर उत्तर भारत और पंजाब के किसान इन कानूनों के विरोध में आये हैं।

हालांकि सरकार और किसानों के बीच इन कानूनों को लेकर बातचीत जारी है। और हाल ही में कोर्ट ने भी इन कानूनों को पर रोक लगाने का फैसला किया है। लेकिन किसान चाहते हैं कि जब तक सरकार द्वारा ये कानून वापिस नहीं लिये जाते तब तक वे विरोध प्रदर्शन बंद नहीं करेंगे। किसानों का कहना है कि अगर सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती तो 26 जनवरी किसान अपने ट्रैक्टर लेकर इन कानूनों के विरोध में परेड निकालेंगे।

Full Video 👇 आप नीचे जा कर खुद देख सकते है’ 👇