Power bank क्या है? और पावर बैंक कैसे काम करते है?

4931
power bank kya hota hai

अनुक्रम

Power Bank कैसे काम करते है?

काफी लोग सोचते है, की Power bank में बस एक बैटरी लगी होती है, और बस बैटरी चार्ज होती है, और फिर वही बैटरी हमारे फ़ोन को चार्ज करती हैं। लेकिन ऐसा नही होता। पावर बैंक में काफी जटिल उपकरण लगे होते है। उसके अंदर जो सर्किट लगे होते है, वह मैनेज करते है, की कितने वोल्ट का करंट भेजना है, क्योकि अगर हम मोबाइल की बैटरी को 4.2 वोल्ट से नही बल्कि किसी और वोल्ट से चार्ज करेंगे तो बैटरी गर्म भी हो सकती है, और ये बैटरी की लाइफ के लिए भी अच्छा नही है।

पावर बैंक में काफी जटिल सर्किट लगे होते है, जो मैनेज करते है, की करंट की वोल्ट से डिस्चार्ज होगा, और इंपुट भी एक तय वोल्ट से ही होता है। इसीलिए ब्रांडेड कंपनी के पावर बैंक्स मेहंगे आते है, क्योकि उसमें काफी जटिल इलेक्ट्रिकल कंपोनेंट्स इस्तेमाल किया जाते है। अगर आप एक अच्छा पावर बैंक लेना चाहथे है, तो इस आर्टिकल का आखरी पैराग्राफ जरूर पढ़िए।

पावर बैंक कैसे बनते है? (Power Banks Manufacture)

सबसे पहले यह तय किया जाता है, कि कितने mah की बैटरी लगानी है, और बाहर का डिजाइन प्लास्टिक की मदद से तैयार किया जाता है, फिर बैटरी को उसके अंदर फिट किया जाता है, और बैटरी के साथ सर्किट से ज्वाइन किए जाते हैं| जिससे चार्जिंग सिर्फ एक ही वोल्टेज पर हो सके और उसके बाद उन्हीं सर्किट उसके साथ यूएसबी पोर्ट्स लगाए जाते हैं, ताकि बैटरी को चार्जिंग कर सकें और फिर एलईडी लाइट्स लगाई जाती है, ताकि चार्जिंग कितना पर्सेंट बचा है वह पता चले,

उसके बाद प्लास्टिक के बॉक्स को पूरी तरह से बंद कर दिया जाता है, और ऊपर से कंपनी का लोगो लगा दिया जाता है, अगर samsung का पावर बैंक है, तो सैमसंग का लोगो लगाया जाता है, अगर किसी और ब्रांड का है, तो उस ब्रांड का लोगो उसके पर लगाया जाता है, और पावर बैंक पूरी तरह से तैयार हो जाता है। 

पावर बैंक क्या होते है? (What is Power bank)

पावर बैंक एक ऐसा डिवाइस या उपकरण है, जिससे हम अपना मोबाइल ट्रैवल या इमरजेंसी के टाइम पर चार्ज कर सकते है| जब हमारे पास चार्जिंग करने की सुविधा उपलब्ध ना हो। पावर बैंक में भी एक बैटरी की लगी होती है, फोन की तरह लेकिन, उस बैटरी की क्षमता बहुत ज्यादा होती है, जिससे हमारा फोन 3 से 4 बार चार्ज बार भी चार्ज हो सके। और जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी एडवांस हो रही है पावर बैंक्स की कैपेसिटी भी बढ़ रही हैं और आजकल मार्केट में वायरलेस पाउडर बैंक आ रहे हैं।

लेकिन आजकल की फास्ट चार्जिंग को देखकर ऐसा लगता नहीं है, कि पावर बैंक भविष्य में ज्यादा टिकने वाले हैं, क्योंकि आजकल के फोन 15 से 20 मिनट में 60% तक चार्ज हो जाते हैं, और इतनी फास्ट चार्जिंग होने के कारण लोग और बैंक कम इस्तेमाल करेंगे,  इसीलिए पावर बैंक का भविष्य खतरे में है।

पावर बैंक (Powerbank) का अविष्कार किसने किया था?

पावर बैंक का अविष्कार किसी इंसान ने नही बल्कि एक कंपनी जिसका नाम है, “PISEN” इसने किया था। यह एक चीनी कंपनी है, और 2017 के एक रिपोर्ट के अनुसार इस कंपनी के 2 करोड़ से ज्यादा पावर बैंक बिकते है।

पावर बैंक कौनसा लेना चाहिए?

Power bank लेते वक़्त सिर्फ उसकी कैपेसिटी ही नही बल्कि क्वालिटी भी देखनी चाहिए। पावर बैंक हमेशा ब्रांडेड ही लेना चाहिए। और साथ में मल्टी पोर्ट्स और LED वाला लेना चाहिए। LED का क्यों लेना चाहिए, इसके बारे में अगले पैराग्राफ में जानेगे। पावर बैंक बनाने वाली कुछ रेपुटेड कंपनी है, जैसे की Anker, Xioami, One Plus, Samsung, इन्ही ब्रांड का पावर बैंक लेना चाहिए। Power bank कोशिश करे की ऑनलाइन ना ख़रीदे, ऑफलाइन मार्केट में कभी कभी डुप्लीकेट पावर बैंक भी मिल सकते है।

पावर बैंक क्या है Power bank kya hai

सबसे अच्छा पावर बैंक कौन सा है?

पावर बैंक्स ₹800 से लेकर ₹2000 तक मिलते हैं, जो 10000mah वाले होते हैं, वह लगभग ₹800 से ₹900 तक मिल जाते हैं, 20000mah वाले ₹1500 तक मिलते हैं, और 30000mah वाले और बैंक्स ₹2000 तक मिलते हैं, और और यह कीमत ब्रांडेड पावर बैंकों की है, डुप्लीकेट पावर बैंक्स सस्ते मिलते हैं, लेकिन वह बहुत जल्दी खराब हो जाते हैं, और उनकी कोई वारंटी भी नहीं मिलती।

पावर बैंक लेते वक़्त सिर्फ उसकी कैपेसिटी ही नही बल्कि क्वालिटी भी देखनी चाहिए। पावर बैंक हमेशा ब्रांडेड ही लेना चाहिए। और साथ में मल्टी पोर्ट्स और LED वाला लेना चाहिए। LED का क्यों लेना चाहिए, इसके बारे में अगले पैराग्राफ में जानेगे। पावर बैंक बनाने वाली कुछ रेपुटेड कंपनी है, जैसे की Anker, Xioami, One Plus, Samsung, इन्ही ब्रांड का पावर बैंक लेना चाहिए। पावर बैंक्स कोशिश करे की ऑनलाइन ख़रीदे, ऑफलाइन मार्केट में कभी कभी डुप्लीकेट पावर बैंक भी मिल सकते है।

ऑनलाइन पावर बैंक्स इस लिंक से ख़रीदे, यहाँ पर आपको ओरिजनल पावर बैंक्स मिलेंगे, और वारंटी के साथ।

Best Power Bank in India :

XIAOMI Power banks:

Anker Power banks:-

Samsung Power banks :-

Power Bank खरीदते समय किन-किन बातो का ध्यान रखे?

पावर बैंक लेते वक्त सबसे बड़ी गलती लोग यह करते हैं, कि वह किसी भी ब्रांड का पावर बैंक ले लेते हैं, या फिर पावर बैंक किसी लोकल दुकान से ले लेते हैं, ऐसे में आपको डुप्लीकेट पावर बैंक मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है, इसलिए यह कोशिश करें कि पावर बैंक या फिर कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट ऑनलाइन परचेज करें,  ट्रस्टेड वेबसाइट जैसे कि अमेजॉन, फ्लिपकार्ट से ही आपको अच्छे और ओरिजिनल प्रोडक्ट मिलेंगे, इसीलिए किसी लोकल दुकान पर भरोसा ना करें, और पब्लिक प्लेसिस पर तो पावर बैंक्स बिल्कुल ना ले।

पावर बैंक लेते समय आपको ब्रांड्स का भी काफी ध्यान रखना होगा, बड़े-बड़े ब्रंड्स जैसे कि Samsung, Anker, Oneplus, Xiaomi इन्हीं ब्रांड्स के पावर बैंक ले।  इन ब्रांड के साथ आपको वारंटी भी मिलेगी।

पावर बैंक को कैसे चार्ज करें?

पावर बैंक को कितना चार्ज करना है, यह उसके साथ मिले यूजर मैन्युअल पर लिखा होता है, और जो ब्रांडेड कंपनी के पावर बैंक से होते हैं, वह लगभग 1 से 2 घंटे में चार्ज हो जाते हैं, पूरी तरह से। Samsung, Anker, Oneplus, Xiaomi के पावर बैंक्स में फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट भी होता है।

सस्ता, अच्छा, छोटा और फ़ास्ट चरगिंग पावर बैंक कोनसा है?

अगर कम से कम कीमत में पावर बैंक लेना है, तो ऊपर दी गयी लिंक पर क्लिक करे, जहा पर आपको काफी कम दाम में भी  काफी अच्छे पावर बैंक मिल जाएंगे। लेकिन अगर कुछ ज्यादा ही सस्ते पावर बैंक अगर लेना है, तो वो 6 महीने में ख़राब हो जाएगा, इसीलिये ऊपर दी गयी लिंक में आपको मार्किट के सबसे अच्छे और फ़ास्ट चार्जिंग वाले पावर बैंक मिलेंगे। 

वेसे पावर बैंक से ज्यादा फ़ास्ट चार्जिंग की उम्मीद नही रखनी चहिये क्योकि बैटरी में DC यानी डायरेक्ट करंट होता है, इसीलिये AC यानी अल्टरनेटिव करंट की तरह वो काफी फ़ास्ट नही हो सकता।  और DC करंट से एक लिमिट तक ही आउटपुट मिलता है।

Power Bank Ke Fayde

पावर बैंक के अनेक फायदे हैं, जैसे कि अगर आप कहीं बाहर सफर पर जा रहे हो, तो आप बाहर फोन चार्ज नहीं कर सकते, तब पावर बैंक आपको बहुत काम आएगा।  पावर बैंक को इस्तेमाल करने से आपकी बैटरी भी गर्म नहीं होगी, क्योंकि अगर आप अपने फोन को बहुत ज्यादा फास्ट चार्ज करवाते हैं, तो उसकी बैटरी गर्म हो जाती है|

लेकिन जो पावर बैंक होता है, वह डायरेक्ट करंट (DC)  पर फोन की बैटरी को चार्ज करता है। जिससे बैटरी एक ही वोल्टेज पर चार्ज होती है, और जो फोन के चार्जर होते हैं, वह अल्टरनेटिव (AC) करंट को डायरेक्ट करंट (DC) में चेंज करते हैं, और फिर चार्ज करते हैं, लेकिन जो पावर बैंक होते हैं, डायरेक्टली (DC) करंट पर चार्ज करते हैं, जिससे बैटरी को कोई भी प्रॉब्लम नहीं होती। वैसे फोन को चार्जर से चार्ज करने पर कोई दिक्कत नहीं है|

लेकिन अगर फोन पावर बैंक से चार्ज करते हैं, तो उसकी बैटरी ज्यादा लंबे समय तक चलेगी, अगर नॉर्मल चार्जिंग से  फोन की बैटरी 10 घंटे चलती है, तो पावर बैंक से चार्ज करने पर 1 घंटा एक्स्ट्रा बढ़ जाएगा।

Power Bank का उपयोग कैसे करते है?

पावर बैंक आपकी फोन की बैटरी की तरह ही एक और बैटरी है, और जब आपकी फोन की बैटरी खत्म हो जाती है, तो आप दूसरी बैटरी से पहली बैटरी को चार्ज करते हैं, और पावर बैंक में कुछ जटिल सर्किट और कॉम्पोनेंट्स लगे होते हैं, जो कि वोल्टेज को मैनेज करते हैं। पावर बैंक की बैटरी बहुत बड़ी होती है, इसलिए आप उसे रात में दो-तीन घंटे चार्ज कर सकते हैं, अगर दूसरे दिन आपको कहीं बाहर जाना हो तो, और जब भी आपकी फोन की बैटरी कम हो जाए आपका और बैंक से उसे अटैच करके इस्तेमाल कर सकते हैं।

पावर बैंक से चार्ज करने के लिए सिर्फ आपको एक यूएसबी वायर चाहिए होगा, और बाहर का बड़ा पोर्ट होगा वो पावर बैंक में लगेगा और जो छोटा पोर्ट होगा वह फोन में लगेगा और बस आपका फोन चार्ज होना शुरू हो जाएगा। लेकिन आपका फोन नॉर्मल चार्जिंग के मुकाबले थोड़ा सा स्लो चार्ज होगा। लेकिन उसकी बैटरी भी ज्यादा देर तक चलेगी

पावर बैंक में फुल चार्ज हो गया कैसे पहचाने?

Power bank चार्ज कितना हुआ है, यह जानने के लिए LED लाइट का इस्तेमाल होता है, इसिलिए हमेशा LED वाले ही पावर बैंक्स लेने चाहिए। और मल्टी पोर्ट्स वाले पावर बैंक से एक साथ कही फ़ोन चार्ज हो सकते है। और इससे काफी समय बचता है।

पावर बैंक कितने समय तक चलता है?

एक ब्रांडेड कंपनी का Power bank 3 से 4 सालो तक चलता है। उसके बाद उसकी बैटरी जवाब दे जाती है। फिर उसमें वह चार्ज करने वाली कैपेसिटी नही रहती। इसीलिये एक पावर बैंक को 3 से 4 सालो बाद बदलना चाहिए। पावर बैंक्स साइकल्स पर चलते है, एक पावर बैंक 500 साइकिल तक चलता है। एक साइकिल यानी एक 0% से 100% तक चार्ज करना। और अगर हर दो दिन में भी पावर बैंक को चार्ज करेंगे तो एक पावर बैंक 1,000 दिनों तक चलेगा। हर एक साइकिल पूरी होने पर बैटरी की कैपेसिटी बहोत थोड़ी सी कम होती है, और 500 साइकल्स बाद बैटरी की कैपेसिटी बहोत काम हो जाती हैं।

पावर बैंक इस्तेमाल करने से बैटरी ख़राब होती है?

पावर बैंक मे से एक तय वोल्टेज पर करंट निकलता है, और जो फ़ोन का चार्जर होता है, वह भी प्लग में से एक तय वोल्टेज का ही करंट लेता है, तो यहां पर पावर बैंक और चार्जर एक ही काम कर रहे है, और चार्ज करने से बैटरी ख़राब नही होती, ऐसे ही पावर बैंक इस्तेमाल करने से भी नही होती। पावर बैंक भी सेम वोल्टेज पर ही चार्ज करते है, तो Power bank से कोई नुक्सान बैटरी को नही होता।

पावर बैंक को पूरी रात चार्ज पर छोड़ सकते है?

अभी जो नए पावर बैंक आते है, उनमे काफी जाटिल और एडवांसड कंपोनेंट्स लगे होते है, जिससे पावर बैंक को पता चल जाता है, की कितना चार्ज हुआ हैं। इसीलिये नए मॉडल्स के पावर बैंक को बे-फ़िक्र चार्ज पर छोड़ सकते है, क्योकि फुल चार्ज होते ही, अपने आप करंट सप्लाई बंद हो जाती है।

फ़ोन पावर बैंक से चार्ज करते वक़्त इस्तेमाल करना चाहिए?

किसी फ़ोन की बैटरी उसे चार्ज करते वक़्त या फोन इस्तेमाल करते वक़्त गर्म होती है, और अगर दोनों काम एक साथ करेंगे तो फ़ोन ज्यादा गर्म होगा। और अगर चार्ज करते वक़्त फ़ोन इस्तेमाल करेंगे तो बैटरी की लाइफ जल्दी कम होगी। इसीलिये फ़ोन चार्ज करते समय फ़ोन इस्तेमाल ना करे, और हो सके तो फ़ोन स्विच ऑफ करके चार्ज करे।

Power bank चार्ज करने के लिए कितना समय लगता है?

पावर बैंक 1 से 2 घंटो में चार्ज हो जाता है, और पावर बैंक के साथ यूजर मैन्युअल आती है, उसमे भी लिखा होता है, की कितना समय लगेगा। पावर बैंक में ऊपर जो LED लाइट लगी होती है, उससे भी पता चलता है, की कितना चार्ज बाकी है।

पावर बैंक्स क्यों फटते है?

जो डुप्लीकेट ब्रांड्स के Power bank होते है, वह अक्सर फटते है, क्योकि उसमे अचे सर्किट नही होते है, और बैटरी भी अछि क्वालिटी की नही होती, और पावर बैंक ओवर-चार्जिंग से भी फटते है, लेकिन जो ब्रांडेड पावर बैंक होते है, वो नही फटते। इसीलिये जो ऊपर लिंक दी है, वहां से ही पावर बैंक्स ख़रीदे वह एकदम ओरिजनल है।

पास थ्रू चार्जगिंग क्या होती है?

पावर बैंक लेते वक्त अक्सर पास थ्रू चार्जगिंग के बारे में सुनने मिलता है, इसका मतलब एक उदहारण से समजते है। मान लीजिये आपके फ़ोन और पावर बैंक दोनों में ही चार्जिंग खत्म हो गया है, तो जिस पावर बैंक में पास थ्रू चार्जिंग सपोर्ट करती है, उसमे पावर बैंक और फ़ोन दोनों को साथ में चार्ज कर सकते है। इससे सबसे पहले फ़ोन चार्ज होगा और फिर पावर बैंक चार्ज होगा। और यह टेक्नोलॉजी सिर्फ ब्रांडेड पावर बैंक में ही होती है। इससे फ़ोन और पावर बैंक दोनों की ही चार्ज किया जा सकता है।

10,000 mah के पावर बैंक 5,000 mah वाले फ़ोन को दो बार चार्ज क्यों नही कर सकता?

Power bank मे से 3.7 वोल्ट का आउटपुट निकलता है, और जो फ़ोन की बैटरी 4.2 वोल्ट पर चार्ज होती है, इसी कारण यहाँ पर वोल्ट डाउन ग्रेड होता है, जिसके कारण किसी पावर बैंक की हमें 100% ऊर्जा नही मिलति। दुनिया में ऐसी कोई भी चीज नही है, जिसमे से हमें 100% ऊर्जा मिल सके। उदहारण के तौर जब फ़ोन चार्ज करते है, तब पावर बैंक थोड़ा सा गर्म होता है, और वह ऊर्जा कहा से आती है, वह ऊर्जा आति है, पावर बैंक के कैपेसिटी में से। इसीलिये कोई भी पावर बैंक 100% ऊर्जा नही देता|

10,000 mah का पावर बैंक एक 5,000 एक बार फुल चार्ज और दूसरी बार लगभग 80% चार्ज कर पायेगा। यहाँ पर थोड़ी सी मैथ्स की मदद से हम यह समझ सकते है। यहाँ पर दो बार वोल्टेज बदलता है, इसीलिये 10,000×3.7/4.2 = 8,809। एक 10,000 mah का पावर बैंक की वोल्टेज घटाने पर इतनी कैपेसिटी मिलती है।

यह था पूरा आर्टिकल पावर बैंक और उसके सभी सवालो के बारे में, जैसे कि और बैंक क्या होते हैं, और पावर बैंक कैसे काम करते हैं, साथ ही साथ हमने यह भी जाना, Power Bank Ke Fayde, Power Bank का उपयोग कैसे करते है?, Power Bank खरीदते समय किन किन बातो का ध्यान रखे? और आपको यह भी बताया कि आपको दुबलीकेट पावर बैंक नहीं लेना चाहिए, ब्रांडेड कंपनी जैसे कि सैमसंग का पावर बैंक, या फिर किसी और बड़ी कंपनी का पावर बैंक ही ले।

अगर आपको पावर बैंक खरीदना है, तो आप ऊपर दी गई लिंक से पावर बैंक खरीद सकते हैं, वहां पर आपको सस्ता, अच्छा, छोटा और फ़ास्ट चरगिंग पॉकेट साइज़ पावर बैंक मिलेगा। अगर आप ऊपर दी गयी लिंक से पावर बैंक खरीदते है, तो हमें कमैंट्स में जरूर बताये।

हम उम्मीद करते है, कि आपको आर्टिकल पसन्द आया होगा। अगर हाँ, तो आप इसको शेयर और कमेंट करे जिससे हमको ऐसे ही आर्टिकल लिखने का प्रोतसाहन मिले।

और अगर आप ऐसे ही कमाल के आर्टिकल और पढ़ना चाहते है, तो नोटिफिशन ऑन करे और जैसे हमारी वेबसाइट BriefingpediA पर कोई नया आर्टिकल आएगा आपको उसका नोटिफिशन मिल जाएगा।

आज के आर्टिकल मे बस इतना ही। आपसे मुलाक़ात होगी फिर किसी और रोमांचक टॉपिक के साथ। तब तक के लिये जय हिंद।l