स्वस्थ जीवन शैली कैसे बनाएं, How to create a healthy lifestyle

2436

आज हम आपको बताएंगे कि स्वस्थ जीवनशैली आप कैसे बना सकते हैं, यानी कि अपनी जिंदगी को और बेहतर और रोग मुक्त किस प्रकार बनाया जा सकता है | इसके लिए आपको कुछ इन बातों का ध्यान रखना चाहिए वैसे दोस्तों शरीर से ही हम अपनी इच्छाओं की पूर्ति कर सकते हैं तो इसके लिए हमें अपने शरीर का स्वस्थ और तंदुरुस्त होना बेहद ही जरूरी है | तो आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप अपने शरीर को रोग मुक्त कैसे कर सकते हैं और एक स्वस्थ और लंबा जीवन कैसे जी सकते हैं इसके लिए आपको नीचे दी गई इन बातों का खास खयाल रखना चाहिए यह है वो खास बातें :-

अनुक्रम

1.  समय पर सोना और जागना

दोस्तों शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें सही समय पर सोना और सही समय पर उठना चाहिए | हमें  रोजाना कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद ही लेनी चाहिए जैसे की रोजाना रात को 10:00 बजे सो जाना चाहिए और सुबह 6:00 बजे तक उठ जाना चाहिए | वैसे तो हम रोजाना जल्दी उठने के लिए अलार्म की सहायता लेते हैं परंतु उससे कई ज्यादा बेहतर होगा कि हमारी आंख अलार्म की बजाय खुद ब खुद खुले ताकि हमारी नींद भी अच्छी तरह से पूरी हो सके |

2.  सुबह की सैर तथा व्यायाम

सुबह जल्दी उठने के बाद हमें सैर के लिए जाना चाहिए और हर रोज 45 से 60 मिनट का व्यायाम जरूर करना चाहिए | व्यायाम करने से हमारा शरीर चुस्त तंदुरुस्त रहता है और शरीर में काम करने की फुर्ती आ जाती है | हर हर रोज व्यायाम करने से शरीर कई प्रकार के रोगों से मुक्ति पा लेता है | सुबह की सैर दौरान इससे हमारे शरीर को ताजी हवा प्रदान होती है जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है इसके अलावा हमें घास पर नंगे पांव चलना चाहिए जो कि हमारे शरीर के लिए लाभकारी है | इसमें अगर बात करें व्यायाम यानी के एक्सरसाइज कैसी होनी चाहिए तो इसके लिए हम आपको बताएंगे कि आपको एक्सरसाइज शरीर और दिमाग दोनों के लिए करनी चाहिए क्योंकि शरीर के साथ साथ हमारे दिमाग का भी फ्रेश होना बहुत जरूरी है | शरीर के लिए व्यायाम की बात करें तो आपको अपने शरीर को फिट रखने के लिए इन तीन तरह का व्यायाम मिलाकर करना चाहिए पहला कार्डियो यानी दिल के लिए ब्रिस्क वाक, एरोबिक्स, स्विमिंग, साइकिलिंग इत्यादि हमको करना चाहिए और  दूसरा थनिंग यानी मजबूती के लिए आपको डंबल, पुशअप्स, उठक-बैठक और तीसरा स्ट्रेचिंग यानी लचीलेपन के लिए आपको हल्की फुल्की एक्सरसाइज और सभी प्रकार के आसन जरूर करने चाहिए | इसके बाद मन के लिए सुबह और शाम 10:10 मिनट मेडिटेशन करें इससे हमारे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है और इसके साथ ही हमारा बीपी भी कंट्रोल में रहता है |

3. समय पर भोजन करना

हमें अपना भोजन हमेशा सही समय पर ही करना चाहिए जैसे कि हमें रात का खाना 8:00 बजे के पहले कर लेना चाहिए क्योंकि जैसे-जैसे रात होती है वैसे ही हमारे शरीर की बॉडी सोने के लिए खुद को तैयारी करती है इसी के साथ ही हमें सुबह का नाश्ता और दोपहर का भोजन भी समय पर करना चाहिए हमें सुबह का नाश्ता 8:00 बजे कर लेना चाहिए और दोपहर का भोजन भी 12:00 से 1:00 के बीच कर लेना चाहिए| हमें हमेशा धीरे-धीरे और अच्छे से चबाकर ही भोजन करना चाहिए | सही समय पर भोजन करने से हम अपने शरीर को स्वस्थ और रोग मुक्त बना सकते हैं|

समय पर भोजन करना

4. भोजन कैसा हो?

इसमें हम बताएंगे कि आपका भोजन कैसा होना चाहिए यानी के सुबह हमें क्या और दोपहर में क्या  और रात को हमें क्या खाना चाहिए | सुबह का ब्रेकफास्ट भारी और दोपहर का लंच उससे हल्का और रात का डिनर उससे हल्का होना चाहिए इसमें आपको बता दें कि सुबह का ब्रेकफास्ट इसलिए भारी होना चाहिए क्योंकि हमारा शरीर 12 घंटे से भूखा होता है और उसे अच्छे खाने की जरूरत होती है  भारी खाने का मतलब तला हुआ नहीं है बल्कि वह है जिससे हमें भरपूर एनर्जी और पोषण मिले | ब्रेकफास्ट में आप ब्राउन ब्रेड, सब्जियों वाला दलिया, आमलेट, ओट्स, उपमा, पोहा आदि को शामिल कर सकते हैं | अपने खाने में रोजाना अलग-अलग रंग के फल और सब्जियां खाएं जितने ज्यादा रंग के फल और सब्जियां खाने में शामिल होंगे तो आपकी सेहत उतनी ही ज्यादा बेहतर होगी तो इस चीज का आप खास ख्याल रखें | सब्जियों के अलावा आप ड्राई फ्रूट्स और सीड्स खाएं इनके अलावा जरूरी है कार्बोहाइड्रेट्स यानी के अनाज यह हमें एनर्जी देते हैं परंतु ध्यान रखें कि इन्हें ज्यादा मात्रा में ना ही नहीं क्योंकि इनसे आपका भार ज्यादा बढ़ सकता है | रात के खाने के बाद आपको एक ग्लास दूध जरूर पीना चाहिए चाहिए | इसके साथ अगर तरल पदार्थ की बात की जाए तो जितना मुमकिन हो सके हमें 1 दिन में पीना चाहिए इसमें हमें रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीने चाहिए और जूस आदि इसमें शामिल है | इससे हमारा शरीर स्वस्था और रोग मुक्त बन सकता है |

अलग-अलग रंग के फल

5. क्रैश डाइटिंग न करें

जब कई लोग वजन बढ़ने की वजह से तंग आकर एकदम से खाना-खाना छोड़ देते हैं तो उसे हम क्रैश डाइटिंग कहते हैं जो कि शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक है | अगर आप वजन को कम करना चाहते हैं तो धीरे-धीरे अपने वजन को कम करें लेकिन ध्यान रखिएगा आप 1 महीने में 2 किलो से ज्यादा वजन कम न करें यदि आप बहुत तेजी से अपने वजन को घटाएंगे तो आपके वजन बढ़ने के और भी ज्यादा चांस हो जाएंगे क्योंकि ज्यादा डाइटिंग से मेटाबॉलिज्म कम हो जाता है | एकदम सब कुछ छोड़ने से आपके शरीर में खालीपन आ जाएगा और जिसे भरने के लिए आप कुछ भी खाने लगेंगे | महीने में 2 किलो वजन कम करने के लिए आपको 500 कैलोरी रोजाना कम करनी होगी इसमें भी आप 250 कैलोरी ब्रिस्क वाक करके और 250 कैलोरी डाइटिंग करके भी कम कर सकते हैं इस प्रकार आप अपने वजन को कम कर सकते हैं | अपने शरीर को फिट रखिए और फिट शरीर ही और रोगमुक्त तथा स्वस्थ रहता है |